देहादून, [राज्य ब्यूरो]: मुख्यमंत्री हरीश रावत ने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के प्रदेश को प्रतिवर्ष तकरीबन साढ़े छह हजार करोड़ रुपये की सहायता दिए जाने के बयान को भ्रमित करने वाला करार दिया। उन्होंने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को केंद्र और राज्यों के बीच वित्तीय प्रबंधन, संसाधनों के बटवारे व धन को अवमुक्त करने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी नहीं है।
बीजापुर राज्य अतिथि गृह में पत्रकारों से बातचीत में मुख्यमंत्री ने कहा कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष को पहले प्रक्रिया को समझना चाहिए और फिर धनराशि की बात बतानी चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अभी तक यह नहीं बताया कि हमने इसका गलत इस्तेमाल कहां किया है।

पढ़ें-भाजपा की परिवर्तन रैली में कांग्रेस के बागियों को पूरी तवज्जो
उन्होंने कहा कि जो पैसा प्रदेश को मिला है, वह राज्य का हिस्सा है। देखा जाए तो यह अनुपातिक रूप में घटा है। यह पहली बार है कि केंद्रीय करों में राज्यों का जो हिस्सा है, उसमें 200 करोड़ रुपये की कटौती हुई है।

पढ़ें: कालेधन के खिलाफ जंग रुकेगी नहीं: अमित शाह
उन्होंने कहा कि प्रदेश ने सीएसएस और सीएसएआर में बाढ़ नियंत्रण के कार्यों, जलाशय आदि के सुधार पर केंद्र सरकार की अनुमति के आधार पर न केवल अपना अंशदान दिया है, बल्कि केंद्रांश के साढ़े सात सौ करोड़ रुपये हैं, उसका प्रदेश को भुगतान नहीं किया जा रहा है।

पढ़ें: शपथपत्र भराकर निर्दलीय को समर्थन देगा उत्तराखंड विकल्प: लखेड़ा
इसी तरह एसपीए के तहत जो प्रोजेक्ट स्वीकृत हैं और जो निर्धारित राशि है उसका पूरा भुगतान नहीं हुआ है। जो हुआ उसमें कुंभ का पैसा भी जोड़ा गया है। उन्होंने भाजपा की रैली में भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष के बयान को आमजन की परेशानी में नमक डालने वाला करार दिया।

पढ़ें-मोदी करना चाहते हैं आम जनता को परेशान: इंदिरा हृदयेश
उन्होंने कहा कि इस समय में भारत के निम्न आय वर्ग, निम्न मध्यम वर्ग को गहरे घाव लगे हैं। भाजपा अध्यक्ष की वाणी ने घावों को और जख्म दिए हैं। भाजपा की रैली ने स्वयं भाजपाइयों को भी निराश किया है।

पढ़ें-उत्तराखंड: पूर्व मंत्री दिवाकर भट्ट भाजपा में शामिल
उन्होंने भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष के बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एक पार्टी, जिसकी केंद्र में सरकार है, उसके राष्ट्रीय एजेंडे में गाली गलौच है। उनके अध्यक्ष ने भी वही बात दोहराई है तो उनके प्रदेश अध्यक्ष व महानगर अध्यक्ष ने कही है। सोचा था कि भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रदेश के लिए कोई प्लान व ले आउट लेकर आएंगे और कांग्रेस से उनका रोड मैप पूछेंगे, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।
उधर, मुख्यमंत्री के प्रवक्ता व मीडिया सलाहकार सुरेंद्र कुमार ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की रैली को फ्लाप शो करार दिया है।
पढ़ें-चुनावी रणभेरी में भ्रष्टाचार बनाम विकास की गूंज

By Bhanu