जागरण संवाददाता, देहरादून। कोविड महामारी के कारण जो छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा की अपनी पढ़ाई पूरी नहीं कर पास थे, उन्हें हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विश्‍वविद्यालय मौका दे रहा है। विश्‍वविद्यालय ने स्नातक व स्नातकोत्तर विषयों के रेगुलर व बैक परीक्षा देने वाले छात्रों को 20 अगस्त से परीक्षा का मौका दिया है। यह परीक्षा सितंबर महीने तक चलेगी। मार्च 2020 में कोरोना संक्रमण की पहली लहर के बाद बंद स्कूल व विश्‍वविद्यालय में अभी तक नियमित परीक्षाएं एवं मूल्यांकन पूरे नहीं हुए हैं।

कई छात्र व उनके परिवार कोरोना संक्रमित होने के कारण परीक्षा से वंचित रह गए थे। ऐसे में अब उन छात्रों को भी परीक्षा देने का मौका मिलेगा, जिनके परीक्षा परिणाम रोके गए हैं। हेमवती नंदन बहुगुणा केंद्रीय विश्‍वविद्यालय से दून के एमकेपी, डीबीएस, एसजीआरआर पीजी कॉलेज व डीएवी कालेज समेत 18 अशासकीय कालेज व 120 निजी कालेज हैं। यह परीक्षा इन्हीं कालेजों के स्नातक व स्नातकोत्तर के छात्र-छात्राओं के लिए आयोजित की जा रही है।

अकेले देहरादून में 20 हजार छात्र-छात्राएं उच्च शिक्षा की परीक्षा देंगे। डीएवी पीजी कालेज के प्राचार्य डा. अजय सक्सेना कि कालेज के स्नातक व स्नातकात्तर के सभी छत्रा-छात्राएं 20 अगस्त से परीक्षा देंगे। प्रवेश पत्र भी आनलाइन जारी किए जाएंगे। परीक्षा आनलाइन होगी या आफलाइन इस बार में जल्द ही निर्णय लिया जाएगा। श्री गुरूराम राय पीजी कालेज के प्राचार्य प्रो. वीए बोड़ाई ने बताया कि कालेज में दो हजार से अधिक छात्र-छात्राएं परीक्षा देंगे। परीक्षा को कार्यक्रम जारी कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें:-अब हाइ स्‍कूल के बाद भी छात्र कर सकेंगे बीटेक, देहरादून में ग्राफिक एरा विवि ने शुरू की यह पहल

Edited By: Sunil Negi