जागरण संवाददाता, देहरादून। दोस्त को एक हफ्ते के लिए कार देना एक युवक को महंगा पड़ गया। दोस्त अब कार नहीं लौटा रहा है। साथ ही मांगने पर धमका रहा है। वहीं पीड़ि‍त युवक ने कोतवाली से निराश होने के बाद डीआइजी और एसएसपी से शिकायत की। अधिकारियों के आदेश बाद भी कोई कार्रवाई नहीं हो पाई। मामले में राजनीतिक दबाव के चलते पटेलनगर कोतवाली पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं करने की बात भी सामने आ रही है। अब पीड़ि‍त युवक ने पुलिस महानिदेशक से गुहार लगाई है।

पेशे से इलेक्ट्रिशियन टीएचडीसी कालोनी देहराखास निवासी विपिन कुमार ने डीजीपी को शिकायत दी है। जिसके अनुसार उसकी दोस्ती पड़ोस में किराये पर रह रहे युवक अभिजीत चौधरी व सतेंद्र थी। अभिजीत पटेलनगर के एक भाजपा नेता का रिश्तेदार बताया जाता है। आरोप है कि करीब डेढ़ वर्ष पूर्व विपिन का मोबाइल अभिजीत ने खरीदने की बात कहते हुए ले लिया और कीमत कुछ दिन में अदा करने की बात कही। लेकिन, पैसे नहीं दिए। विपिन बार-बार मोबाइल के पैसे मांगता रहा। लेकिन, वह हर बार टालता रहा। इसी वर्ष आठ जनवरी को विपिन के पास अभिजीत पहुंचा और जरूरी काम की बात कहकर एक हफ्ते के लिए विपिन की नई हुंडई वैन्यू कार ले गया। एक हफ्ते बाद जब विपिन ने कार मांगी तो वह आनाकानी करने लगा। आरोप है कि उसके बाद से अभिजीत व उसके साथी लगातार दबंगई दिखाकर कार देने से इन्कार कर रहे और धमका रहे हैं। इस मामले को लेकर विपिन ने कई दफा कोतवाली पटेलनगर में शिकायत दी। लेकिन, पुलिस ने शिकायत दर्ज नहीं की। इसके बाद विपिन ने एसएसपी व डीआइजी को भी शिकायत दी, जिस पर दोनों अधिकारी ने कोतवाली पटेलनगर पुलिस को कार्रवाई करने को कहा, लेकिन पुलिस ने तब भी कार्रवाई नहीं की।

यह भी पढ़ें:- साइबर ठगों ने सात व्यक्ति के उड़ाए करीब आठ लाख रुपये, पुलिस ने दर्ज किया मुकदमा

Edited By: Sunil Negi