राज्य ब्यूरो, देहरादून। प्रदेश में भाजपा सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर आयोजित होने वाले कार्यक्रम का स्वरूप बदलने की पूरी संभावना है। कारण यह कि चार साल पूरे होने से पहले ही सरकार के मुखिया बदल गए हैं। माना जा रहा है कि कार्यक्रम तो होगा, लेकिन नेतृत्व परिवर्तन के चलते इसका स्वरूप बदल सकता है।प्रदेश में भाजपा सरकार के सत्ता संभालने के चार साल 18 मार्च को पूरे हो रहे हैं। ऐसे में सरकार ने विधानसभा स्तर पर विकास के चार साल: बातें कम, काम ज्यादा, कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया। मुख्य कार्यक्रम पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के विधानसभा डोईवाला में होना था।

कार्यक्रम को भव्य बनाने के लिए हर विधानसभा में स्थानीय जनप्रतिनिधियों और सरकारी योजनाओं के लाभार्थियों को आमंत्रित करने का निर्णय लिया गया। विधानसभा स्तर पर तैयारियों के लिए हर विधानसभा क्षेत्र में तकरीबन 15-15 लाख रुपये की धनराशि आवंटित करने का भी निर्णय लिया गया। इस कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्रियों को आमंत्रित किया गया था।

इस बीच सरकार के चार साल पूरे होने से नौ दिन पहले सरकार के मुखिया ने इस्तीफा दे दिया। अब नए मुखिया ने पदभार संभाला है। ऐसे में सरकार के चार साल पूरे होने के उपलक्ष्य में होने वाले कार्यक्रम पर संशय के बादल छाए हुए हैं। इस संबंध में पूर्व राज्य मंत्री व विधायक धन सिंह रावत ने कहा कि सरकार के चार साल पूरे होने के अवसर पर कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। कार्यक्रम के आयोजन को लेकर मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत से चर्चा की जाएगी।

यह भी पढ़ें-त्रिवेंद्र सिंह रावत की बदली दिनचर्या, लेकिन समर्थकों के पहुंचने का सिलसिला जारी

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें

Edited By: Sunil Negi