देहरादून, जेएनएन। ग्राफिक एरा के फैशन शो 'उत्तरागम-2019' में राज्य की संस्कृति और परिवेश के विविध रंग देखने को मिले। शो के दौरान उद्योग जगत के प्रतिनिधियों ने छात्र-छात्राओं के फैशन परिधानों को विभिन्न मापदंडों पर जांचा-परखा। शो में मुख्यअतिथि भारतीय प्रशासनिक अकादमी मसूरी के निदेशक संजीव चोपड़ा थे।

संसटेनबिलिटी थीम पर आधारित इस फैशन शो में स्थानीय प्राकृतिक उत्पादों से तैयार वस्त्र आकर्षण का केंद्र बने रहे। शो में उत्तराखंड के पारंपरिक परिधान जैसे घागरी, साड़ी, पागड़ा, सदरी से प्रेरित वस्त्रों को नए डिजाइन में प्रस्तुत किया गया। शो के दौरान उत्तराखंड के फूल ब्रहम कमल, बुरांस और राज्य पक्षी मोनाल के रंगों की झलक दिखी। बिच्छू घास के रेशों से बने परिधानों को पहनकर मॉडल ने रैंप पर जब वॉक किया तो पूरा सभागार तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। 

फैशन शो में देश के नामी ब्रॉड रैमड, हार्ट एंड सोल, सूरज एंड डांसिंग लेजिंग ने छात्र-छात्राओं के इन परिधानों को प्रायोजित किया। फैशन शो की खास बात यह रही कि कपड़ों की कतरनों का प्रयोग कर नये परिधानों को खूबसूरती से बनाया गया। फैशन शो के बारे में ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के कुलपति डॉ. संजय जसोला ने बताया कि शो छात्र-छात्राओं की कड़ी मेहनत और निरंतर किए गए प्रयोग का नतीजा है। 

सृष्टा भंडारी को श्रेष्ठ जूरी अवार्ड से नवाजा गया। जबकि अवनीका पंडित को फैशन डिजाइनिंग अभिनव प्रयोग के लिए सम्मानित किया गया। अस्मिता को श्रेष्ठ परजेंटेशन के लिए सम्मानित किया गया। शो के दौरान कई नामी हस्तियों राजेश जैन, सीवी कटारिया, वीवी पॉल, सीएस शेखर, संदीप कपूर, पद्मजा नायडू सिंगापुर आदि ने प्रतिभाग किया। इस दौरान ग्राफिक एरा ग्रुप के अध्यक्ष प्रोफेसर डॉ. कमल घनशाला के अलावा छात्र-छात्राएं भी बड़ी संख्या में मौजूद रहे। 

यह भी पढ़ें: गढ़वाल अंचल में भी चढ़ रहा 'पिछौड़' का रंग, जानिए इसके बारे में

यह भी पढ़ें: चुनावी मौसम में बढ़ रहा खादी प्रेम, नेताओं संग समर्थकों की भी पसंद

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस