देहरादून, जेएनएन। अभिमन्यु क्रिकेट एकेडमी के संचालक आरपी ईश्वरन के घर पर हुई डकैती के आरोपितों पर ईडी (प्रवर्तन निदेशालय) का शिकंजा भी कस सकता है। इसके लिए ईडी ने तैयारी शुरू कर दी है। इसके साथ ही उस आरटीओ कार्मिक पर भी ईडी की कार्रवाई संभव है, जिसके घर से डकैती के आरोपितों ने एक करोड़ 38 लाख रुपये लूट लिए थे। भले ही आरटीओ कार्मिक ने इसकी शिकायत पुलिस से नहीं की, मगर पकड़े गए आरोपितों से पुलिस ने यह डकैती भी कबूल करवा ली। 

ईडी ने इन दोनों प्रकरणों में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) में कार्रवाई की तैयारी शुरू कर दी है। इसके लिए सबसे पहले ईडी पुलिस से एफआइआर की प्रति प्राप्त करेगी, जिससे मनी लॉन्ड्रिंग में मामला दर्ज कर आरोपितों की संपत्ति जब्त कर सके। ईडी इन दोनों डकैतियों के अलावा यह मानकर चल रही है कि आरोपितों ने इसी तरह बड़ी संपत्ति अर्जित कर ली है। जो कि सीधे तौर पर मनी लॉन्ड्रिंग के दायरे में आता है। इसी के साथ आरटीओ कार्मिक पर भी मनी लॉन्ड्रिंग का शिकंजा कसता दिख रहा है। क्योंकि एक सरकारी कार्मिक के पास एक वक्त पर इतनी बड़ी रकम होना संभव नहीं है। लिहाजा, अगर पुलिस की जांच में डकैती साबित हो जाती है तो आरटीओ कार्मिक की मुश्किलें बढ़ना तय है। 

इन्वेस्टिगेशन विंग भी सक्रिय 

दूसरी तरफ आरटीओ कार्मिक के घर पर हुई एक करोड़ 38 लाख रुपये की डकैती पर आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग की दिलचस्पी भी बढ़ गई है। विंग के संयुक्त निदेशक लियाकत अली ने बताया कि अपनी कार्रवाई को तय करने के लिए पुलिस से एफआइआर की प्रति मांगी जाएगी। देखा जाएगा कि इसमें किस कार्मिक का नाम है। इसके बाद उस कार्मिक की आइटीआर की जांच की जाएगी।

यह भी पढ़ें: क्रिकेटर अभिमन्यु के घर लूट मामले में कार की बरामदगी पर टिकी पुलिस की निगाहें

इसके बाद विंग के अधिकारी कभी भी संबंधित कार्मिक के घर पर छापा मार सकते हैं। यदि यह रकम नहीं भी मिलती है और छापे में भी कैश बरामद नहीं होता है तो कार्मिक की अर्जित संपत्तियों का ब्योरा जुटाया जाएगा। इसमें देखा जाएगा कि अर्जित संपत्तियों का रिटर्न में उल्लेख है या नहीं।   

यह भी पढ़ें: क्रिकेटर अभिमन्यु ईश्वरन के घर हुई डकैती में प्रयुक्त कार बरामद Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप