देहरादून, जेएनएन।  दो महीने के लॉकडाउन के बाद सोमवार से उत्तराखंड के जौलीग्रांट(देहरादून) और पंतनगर एयरपोर्ट पर उड़ाने शुरू हो गई हैं। सोमवार को अभी तक चार उड़ाने यहां पहुंची और चार उड़ाने यहां से रवाना हुई हैं। वहीं, मुंबई से दून आने वाली फ्लाइट कैंसिल हो गई। जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर कोरोना वायरस से सुरक्षा की दृष्टि से कड़े बंदोबस्त किए गए। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग में यात्री और स्टाफ नियमों का पालन करते नजर आए। 

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन के चौथे चरण में घरेलू उड़ानें शुरू हो गई हैं। इसे देखते हुए जौलीग्रांट एयरपोर्ट पर बाहर से आने वाले यात्रियों की सुरक्षा के भी पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। एयरपोर्ट के बाहर स्वास्थ्य विभाग की टीम की देखरेख में उनकी जांच की जा रही है। वहीं, तहसील प्रशासन और पुलिस की मौजूदगी में हवाई यात्रियों को गढ़वाल विकास निगम की गाड़ियों से क्वारंटाइन के लिए चिह्नित होटलों में भेजा गया। उप जिलाधिकारी डोईवाला लक्ष्मी राज चौहान ने बताया कि जिन जगहों पर इन यात्रियों के लिए क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए हैं उन्हें वहां भेजा जा रहा है। 

वहीं, एयरपोर्ट के मैनेजर सुमित सक्सेना ने बताया कि सोमवार को कुल छह फ्लाइट का शेड्यूल मिला था, जिनमें से मुंबई से आने वाली फ्लाइट कैंसिल हो गई। वहीं, इंडिगो की तीन और एलास एयर की एक फ्लाइट का अब तक संचालन हो चुका है। इनमें एक फ्लाइट पंतनगर से दून और दून से पंतनगर की, जबकि शेष उड़ाने दिल्ली और दून के बीच की है। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 127 यात्री विभिन्न फ्लाइटों से यहां पहुंचे हैं, जबकि 140 यात्री यहां से रवाना हुए हैं।

उन्होंने ये भी बताया कि पंतनगर से आई फ्लाइट में तीन यात्री दून आए, जबकि तीन यात्रियों को लेकर ही फ्लाइट ने पंतनगर के लिए यहां से उड़ान भरी। इसी तरह दिल्ली से आई पहली फ्लाइट में 15 यात्री यहां पहुंचे और तीन यात्री दिल्ली गए हैं। उधर, हवाई यात्रियों को उनके स्वयं के खर्चे पर क्वारंटाइन किए जाने से सभी यात्रियों में रोष व्याप्त है। 

यह भी पढ़ें: फ्लाइट से आने वाले लोगों को पेड क्वारंटाइन की सुविधा, जानिए कितना करना होगा खर्चा

खुद के खर्चे पर क्वारंटाइन की नहीं थी जानकारी  

कई यात्रियों का कहना था कि उन्हें समय पर इसकी जानकारी नहीं दी गई। अगर जानकारी होती तो वह फ्लाइट से नहीं आते। इंडिगो की फ्लाइट से यहां पहुंची सुनीता सिंह ने बताया कि उन्हें यात्रा के बाद क्वारंटाइन किए जाने का कोई मैसेज नहीं दिया गया। वह विशेष परिस्थितियों में फ्लाइट से दून आई थी, लेकिन अब सात दिन के लिए क्वारंटाइन किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में कोरोना ने खड़ा किया चुनौतियों का पहाड़, बीते हफ्ते छह गुना रफ्तार से बढ़े मामले

 

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस