देहरादून, [जेएनएन]: उत्तराखंड में राजाजी व कार्बेट टाइगर रिजर्व के साथ ही 11 वन प्रभागों में फैले हाथियों के वासस्थलों में 23 मई से गजराज की गणना होगी, जो 27 मई तक चलेगी। इसके लिए महकमे ने लगभग सभी तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया है। राजाजी टाइगर रिजर्व में 100 टीमें इस कार्य में जुटेंगी, जिनमें 400 से अधिक लोग शामिल रहेंगे।

यमुना से लेकर शारदा तक 6643.5 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में है हाथियों का बसेरा। 2015 के बाद अब फिर से इनकी गणना कराई जा रही है। राजाजी टाइगर रिजर्व के निदेशक सनातन सोनकर बताते हैं कि हाथी गणना के सिलसिले में कार्मिकों को प्रशिक्षण दिया जा चुका है। 

उन्होंने बताया कि गणना लीद क्षय विधि से होगी। इसके तहत मल गणना कर घनत्व निकाला जाता है। उन्होंने बताया कि साथ ही साथ प्रत्यक्ष गणना भी होगी। बता दें कि वर्ष 2015 में राज्य में हाथियों की संख्या 1779 थी।

राज्य में हाथी

क्षेत्र---------------------- 2012-------- 2015

कार्बेट टाइगर रिजर्व-----743----------1035

राजाजी टाइगर रिजर्व----302-----------309

शिवालिक वृत्त------------264-----------248

पश्चिमी वृत्त--------------224-----------179

उत्तरी वृत-------------------26-------------08

यह भी पढ़ें: राजाजी पार्क में पेड़ों के बीच फंसने से हाथी के बच्चे की मौत

यह भी पढ़ें: बकरियां चरा रही महिला को हाथियों ने पटककर मार डाला

यह भी पढ़ें: जंगल में पानी नहीं, प्यासे हाथी कर रहे बस्ती व गंगा की ओर रुख

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस