ऋषिकेश, जेएनएन। राजधानी देहरादून में भी कोरोना वायरस संक्रमण का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान(एम्स) ऋषिकेश में हुई जांच में दस लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई है। इनमें तीन मरीज ऋषिकेश के हैं। फिलहाल, संस्थान की ओर से इस बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है। 

एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि गली नंबर-9 गंगानगर निवासी 39 वर्षीय व्यक्ति बीते सोमवार को बुखार और खांसी की शिकायत के साथ एम्स की कोविड स्क्रीनिंग ओपीडी में आया था, जिसका सैंपल लिया गया था। इसके बाद से वह होम आइसोलेशन में था। इस व्यक्ति की रिपोर्ट कोविड पॉजिटिव पाई गई है। वहीं, दूसरा मामला मानवेंद्र नगर वाल्मीकि बस्ती ऋषिकेश का है। 57 वर्षीय ये शख्स 27 जुलाई को चार दिनों से बुखार और कफ की शिकायत के साथ ओपीडी में आया था, जहां इनका सैंपल जांच के लिए लिया गया और होम आइसोलेशन में भेज दिया गया। उनमें भी कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। इन्हीं का 38 वर्षीय बेटा भी बीते सोमवार को कई दिनों से बुखार और खांसी की शिकायत के साथ ओपीडी में आया था और उसमें भी कोरोना की पुष्टि हुई है।

इसके अलावा हरिद्वार निवासी 32 वर्षीय युवक मैक्सवैल अस्पताल हरिद्वार से एम्स इमरजेंसी में रेफर किया गया था। इस शख्स को बीते सोमवार को एक सप्ताह से बुखार, गले में दर्द और खांसी की शिकायत थी, जिसका यहां कोरोना सैंपल लिया गया और उसे एम्स आइसोलेशन वॉर्ड में भर्ती कर दिया गया। मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। हितामपुर रोशनाबाद, हरिद्वार निवासी 50 वर्षीय एक शख्स कोरोना संक्रमित पाया गया है। वो एम्स में भर्ती अपनी 46 वर्षीय कोरोना पॉजिटिव पत्नी का अटेंडेंट है। वो 27 जुलाई को एम्स ओपीडी में पहुंचे, जहां उनका कोविड सैंपल लिया गया। ये मरीज एसिम्टमेटिक(जिसमें रोग के कोईव लक्षण नहीं पाए जाते है) है। गौरतलब है कि इस शख्स की पत्नी उससे एक दिन पहले 26 जुलाई को एम्स में कोरोना पॉजिटिव पाई गई थी, जिसका यहां उपचार चल रहा है।         

आइटीबीपी कैंप, सुनिल जोशीमठ चमोली गढ़वाल निवासी 53 वर्षीय व्यक्ति बीते शनिवार को किसी अन्य मेडिकल संस्थान से दस दिन पहले से हाईग्रेड फीवर की रिपोर्ट के साथ एम्स इमरजेंसी में आया था। वो हाल ही में कठुवा, जम्मू एंड कश्मीर से जोशीमठ आया था। साथ ही मरीज अर्थराइटिस आदि बीमारियों से भी ग्रसित है। उसका कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है। इस मरीज को कोविड आइसीयू में भर्ती किया गया है। 

विकासनगर, देहरादून निवासी 19 वर्षीय युवक जो कि बीते सोमवार को राजकीय चिकित्सालय विकासनगर से रेपिड एंटीजन पॉजिटिव टेस्ट रिपोर्ट के साथ एम्स ऋषिकेश में आया था,जिसका एम्स में कोविड सैंपल लिया गया, जो पॉजिटिव पाया गया है, इसके बाद उसे कोविड वॉर्ड में भर्ती कर दिया गया है। गौरतलब है कि वह अपने कोविड संक्रमित पिता के प्राइमरी कॉन्टेक्ट में आया था, जिनका एम्स ऋषिकेश के कोविड वॉर्ड में उपचार चल रहा है। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: विकासनगर में व्यापारी के पांच सदस्यों सहित नौ लोग कोरोना संक्रमित

वहीं, विकासनगर, देहरादून निवासी 39 वर्षीय एक शख्स जो बीती 27 जुलाई को राजकीय चिकित्सालय विकासनगर से रेपिड एंटीजन पॉजिटिव टेस्ट रिपोर्ट के साथ एम्स ऋषिकेश आया था। उसका कोविड वॉर्ड में उपचार चल रहा है। बताया गया कि ये व्यक्ति विकासनगर निवासी एक अन्य कोविड संक्रमित मरीज के प्राइमरी कॉन्टेक्ट में आया था, जो एम्स में उपचाराधीन है। एक अन्य मामला हरिद्वार का है। कनखल, हरिद्वार निवासी 29 वर्षीय व्यक्ति जो 27 जुलाई को एम्स ऋषिकेश ओपीडी में आया था, जहां उसका सैंपल लिया गया, जो पॉजिटिव पाया गया है। उन्होंने बताया कि सभी कोविड पॉजिटिव मामलों के बाबत स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को अवगत करा दिया गया है।

यह भी पढ़ें: LIVE Uttarakhand Coronavirus News Update: कोरोना से पांच और संक्रमितों की मौत, 224 नए मामले आए सामने

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस