Move to Jagran APP

देहरादून में यौन उत्पीड़न में कांग्रेस नेता आजाद अली गिरफ्तार

महिला से वाट्सएप पर अभद्र भाषा का उपयोग करने पर कोतवाली पुलिस ने कांग्रेस नेता आजाद अली के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया। एसएसआइ लोकेंद्र बहुगुणा ने बताया कि एक महिला ने तहरीर दी थी कि वह एक बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत है।

By Sunil NegiEdited By: Published: Tue, 23 Mar 2021 12:46 AM (IST)Updated: Tue, 23 Mar 2021 12:46 AM (IST)
देहरादून में यौन उत्पीड़न में कांग्रेस नेता आजाद अली गिरफ्तार।

जागरण संवाददाता, देहरादून। महिला से वाट्सएप पर अभद्र भाषा का उपयोग करने पर शहर कोतवाली पुलिस ने कांग्रेस नेता आजाद अली के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया। एसएसआइ लोकेंद्र बहुगुणा ने बताया कि एक महिला ने तहरीर दी थी कि वह एक बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत है। महिला की इंश्योरेंस को लेकर आरोपित आजाद अली से बातचीत चल रही थी। इंश्योरेंस पॉलिसी की जानकारी देने के लिए वह आजाद अली को वाट्सएप पर जानकारी देती थी। आरोप है कि इसी बीच आजाद अली ने उनके साथ अभद्र भाषा का प्रयोग किया और अश्लील बातें की। जब इस बात की जानकारी महिला के पति को मिली तो उन्होंने आरोपित को वाट्सएप कॉल की। आरोप है, इस दौरान भी आरोपित ने अभद्रता की। उन्होंने यह बात रिकार्ड कर ली। सोमवार को बैंक मैनेजर अपने पति के साथ शहर कोतवाली पहुंचीं और तहरीर दी। पुलिस ने मुकदमा दर्ज करते हुए आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस उसे कोर्ट में पेश करने के लिए ले गई, जहां कोर्ट ने कहा कि इस मामले में सजा सात साल से कम है, इसलिए उसे कोतवाली से ही जमानत दी जाए। 

बहुगुणा ने बताया कि आजाद अली के खिलाफ 2006 में भी यौन उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज हुआ था। इसके अलावा आरोपित के खिलाफ पटेलनगर कोतवाली व शहर कोतवाली में दो मुकदमे दर्ज हैं। इस मामले में आरोपित आजाद अली ने बताया कि उसे साजिश के तहत फंसाया गया है। महिला चार महीने से वाट्सएप पर चैट कर रही थी, लेकिन उसने कोई जवाब नहीं दिया। इसके सबूत भी मौजूद हैं। महिला खुद को बीमा एजेंट बताकर फोन कर रही थी।

कांग्रेस ने किया पार्टी से निष्कासित

महिला की ओर से लगाए गए आरोपों का संज्ञान लेते हुए प्रदेश कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने आजाद अली को पार्टी से निष्कासित कर दिया है। आजाद अली कांग्रेस में पूर्व प्रदेश सचिव व विशेष आमंत्रित सदस्य थे। प्रदेश कांग्रेस महामंत्री संगठन विजय सारस्वत ने बताया कि आजाद अली पर लगे गंभीर आरोप और पुलिस की कार्रवाई को देखते हुए पार्टी नेतृत्व ने स्वत: संज्ञान लिया है। 

यह भी पढ़ें-फर्जी प्रमाण पत्र पर पांच साल से नौकरी कर रहा था शिक्षक, जांच में आरोप सही निकलने पर गिरफ्तार

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.