देहरादून, राज्य ब्यूरो। प्रदेश भाजपा के मुख्य प्रवक्ता एवं विधायक मुन्ना सिंह चौहान ने कहा कि सरकार कोरोना से लड़ रही है और कांग्रेस बीमारों से। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के एक मंत्री व उनके परिवार के कोरोना संक्रमित होने पर कांग्रेस ने जैसी बयानबाजी की, वह नितांत अमानवीय और असंवेदनशीलता की पराकाष्ठा को दर्शाती है।

भाजपा के मुख्य प्रवक्ता चौहान ने कहा कि कांग्रेस की बयानबाजी प्रवासियों, ग्राम प्रधानों, कोरोना वॉरियर्स व जनमानस का मनोबल तोड़ने और अफरातफरी का माहौल पैदा करने वाली है। कांग्रेस ने क्या कभी ये समझने की कोशिश की कि इससे क्या दुष्प्रभाव पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि जहां तक कैबिनेट मंत्री, उनके परिवार के कोरोना संक्रमित होने का प्रश्न है तो दुनियाभर के विशेषज्ञों की राय है कि इससे शत-प्रतिशत बचाव संभव नहीं। अधिकतम 95 फीसद ही बचाव हो सकता है। पांच फीसद संक्रमण की संभावना हर दशा में बनी रहती है और यह इसी श्रेणी में आता है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में सभी सरकारें संसाधनों की कमी से जूझ रही है। ऐसे में कांग्रेस की सभी प्रवासियों के खातों में 10-10 हजार रुपए जमा कराने और छह माह तक प्रत्येक को साढ़े सात हजार रुपये प्रतिमाह देने की मांग जुमलेबाजी के सिवाय कुछ नहीं है। यह उसी तरह की जुमलेबाजी है, जिस तरह लोस चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने हर बेरोजगार के खातों में राशि भेजने की बात कही थी।

यह भी पढ़ें: सेल्फ क्वारंटाइन जारी रखेंगे सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत और तीनों मंत्री

उन्होंने कांग्रेस से सवाल किया कि कोरोना से लड़ाई में उसका क्या सहयोग रहा। क्या कांग्रेस के किसी भी विधायक ने एक कौड़ी का योगदान अपने वेतन भत्‍तों से किया है। उल्टा तर्क दिया जा रहा कि सरकार ने उनसे सहमति नहीं ली। साफ है कि योगदान के नाम पर फूटी कौड़ी देने को भी कांग्रेस तैयार नहीं है।

यह भी पढ़ें: सोशल मीडिया में धन सिंह रावत को कार्यवाहक मुख्यमंत्री नियुक्‍त करने की चर्चाएं, भाजपा ने किया खंडन

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस