राज्य ब्यूरो, देहरादून। अल्मोड़ा के जागेश्वर मंदिर में आंवला (उत्तर प्रदेश) से भाजपा सांसद धर्मेंद्र कश्यप के व्यवहार व टिप्पणी से उपजे विवाद को कांग्रेस ने मुद्दे के रूप में लपक लिया है। कांग्रेस अब इस मुद्दे के जरिये भाजपा को घेरने की तैयारी में जुट गई है। पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस चुनाव संचालन समिति के अध्यक्ष हरीश रावत ने इस मुद्दे पर सोमवार को उपवास का एलान किया है। उधर, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि पुजारियों के अपमान को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

भाजपा सांसद की जागेश्वर धाम में की गई टिप्पणी से कांग्रेस को बैठे बिठाए ही एक और मुद्दा मिल गया है। गढ़वाल में कांग्रेस ने इस समय भाजपा की घेराबंदी को देवस्थानम बोर्ड का मुद्दा उठाया हुआ है। वह इस मसले पर पंडा-पुरोहित समाज को अपने पाले में लाने का प्रयास कर रही है। कांग्रेस ने सत्ता में आने पर देवस्थानम बोर्ड को भंग करने की घोषणा की है। साथ ही वह इस मसले पर पंडा-पुराहितों के बीच जाने की तैयारी भी कर रही है।

अब जागेश्वर धाम में हुई घटना से कांग्रेस को कुमाऊं के लिए एक मुद्दा मिल गया है। इसके विरोध में रविवार को कुमाऊं मंडल में कांग्रेस के प्रदर्शन की गूंज देहरादून में भी सुनाई दी। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने भाजपा को निशाने पर लेते हुए कहा कि भाजपा सांसद ने जागेश्वर के पुजारी का अपमान किया है। इसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। भाजपा सांसद के खिलाफ तत्काल कार्रवाई न होने पर कांग्रेस प्रदेश भर में आंदोलन करेगी।

उन्होंने भाजपा केंद्रीय नेतृत्व से मांग की है कि वह सांसद के खिलाफ कार्रवाई करते हुए उन्हें पार्टी से निष्कासित करे। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि वह शिव मंदिर में पूजा अर्चना करने के बाद अपने आवास पर एक घंटे का उपवास रखेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस जल्द ही इस मसले पर भाजपा माफी मांगो अभियान भी चलाएगी।

यह भी पढ़ें- संगठन में काम करना चाहते हैं कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, बोले- मैंने चुनाव बहुत लड़ लिए, अब युवाओं को मिलना चाहिए मौका

Edited By: Raksha Panthri