जागरण संवाददाता, देहरादून। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रायपुर के दिन बहुरने वाले हैं। इसे अब अपग्रेड किया जा रहा है। यहां न केवल 30 बेड की व्यवस्था होगी, बल्कि मरीजों को आइसीयू के साथ ही अन्य सुविधाएं भी मिलेंगी। अस्पताल अपग्रेड होने से रायपुर, मालदेवता, केसरवाला, द्वारा सौड़ा सरौली, रांझावाला, नथुवावाला सहित आसपास की बड़ी आबादी को बेहतर इलाज मिल सकेगा।

देहरादून के रायपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र जरूर है, पर इसकी स्थिति किसी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र जैसी है। जबकि यहां पर मरीजों का खासा दबाव रहता है। कोविडकाल में यह अस्पताल उपचार व अन्य कार्यों में काफी मददगार साबित हुआ था। अब इसके उच्चीकरण का प्लान तैयार किया गया है। जिस पर करीब दस करोड़ रुपये का खर्च आएगा। स्वास्थ्य विभाग के मानकों के अनुरूप किसी पीएचसी के माध्यम से करीब 30 हजार की आबादी को कवर किया जाता है।

जबकि, सीएचसी के लिए यह मानक एक लाख से ज्यादा की आबादी है। लेकिन, रायपुर व उसके आसपास करीब तीन लाख की आबादी इस अस्पताल पर निर्भर है। ऐसे में अस्पताल में सुविधाएं व संसाधन बढ़ाए जा रहे हैं। खास बात ये है कि गर्भवती महिलाओं की देखभाल के लिए भी बेहतर सुविधाएं बढ़ाई जा रही हैं। उनके लिए अलग से आसीयू की व्यवस्था होगी, साथ ही विशेषज्ञ चिकित्सकों की संख्या भी बढ़ाई जाएगी। अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. आनंद शुक्ला के अनुसार, क्षेत्रीय विधायक उमेश शर्मा काऊ की ओर से 30 बेड आइसीयू के लिए दिए जा चुके हैं। जो फिलहाल रायपुर स्टेडियम स्थित कोविड केयर सेंटर में रखे गए हैं। अस्पताल की नई बिल्डिंग तैयार होने के साथ यहां यह बेड भी शिफ्ट कर दिए जाएंगे।

यह होंगी सुविधाएं

  • 1000 स्क्वायर मीटर एरिया में बनेगा अस्पताल।
  • चार मंजिला बनेगी बिल्डिंग।
  • दिसंबर 2022 तक तैयार होगा अस्पताल।
  • 30 बेड का आइसीयू होगा तैयार।
  • पांच बेड का निक्कू (एनआइसीयू) होगा तैयार।
  • अल्ट्रासाउंड की भी बढ़ेगी सुविधा।
  • आक्सीजन जनरेशन प्लांट भी लगेगा।

यह भी पढ़ें:-Uttarakhand Coronavirus Update: उत्तराखंड में कोरोना के मामलों में फिर बढ़ोत्तरी, बुधवार को 60 व्यक्तियों में हुई संक्रमण की पुष्टि 

Edited By: Sunil Negi