देहरादून, जेएनएन। एचएनबी गढ़वाल केंद्रीय विश्वविद्यालय से संबद्ध सहायता प्राप्त डिग्री कॉलेजों ने स्नातक और स्नातकोत्तर के प्रथम सेमेस्टर को छोड़कर अन्य सभी पाठ्यक्रमों की आंतरिक परीक्षाओं का परिणाम छात्रों को पिछले सेमेस्टर में मिले औसत अंकों से तय करने का प्रस्ताव रखा है। इस संबंध में रविवार को संबद्ध सहायता प्राप्त महाविद्यालय प्राचार्य परिषद की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक हुई। जिसमें शामिल सभी प्राचार्यों ने परीक्षा से संबंधित नियम तैयार कर गढ़वाल विवि को प्रस्ताव भेजा। जिसमें समस्याएं और सुझाव भी शामिल हैं।

बैठक प्राचार्य परिषद के अध्यक्ष प्रो. वीए बौड़ाई की अध्यक्षता में हुई। प्राचार्य परिषद के महासचिव एवं डीएवी कॉलेज के प्राचार्य डॉ. अजय सक्सेना ने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या में बढ़ोत्तरी को देखते हुए फिलहाल कॉलेज में आंतरिक परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं है। एमपीजी कॉलेज मसूरी के प्राचार्य डॉ. एसपी जोशी ने कहा कि ऑनलाइन आतरिक परीक्षा कराना संभव नहीं है। कॉलेज के पास बुनियादी सुविधाएं नहीं हैं। बैठक में डीबीएस कॉलेज के प्राचार्य डॉ. वीसी पाडे, एसके पीजी कॉलेज हरिद्वार की प्राचार्य डॉ. शशि प्रभा, रुड़की कॉलेज की प्राचार्य डॉ. यशोदा मित्तल, डीडब्ल्यूटी कॉलेज की प्राचार्य डॉ. आरती दीक्षित, एमकेपी कॉलेज की प्राचार्य डॉ. रेखा खरे आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें: सीआइएससीई ने जारी किया बोर्ड परीक्षाओं का नया कार्यक्रम, एक से 14 जुलाई के बीच होंगी बोर्ड परीक्षाएं

बैठक में यह प्रस्ताव पास 

  • स्नातक व स्नातकोत्तर की आतरिक परीक्षाओं का परिणाम औसत अंकों के आधार पर तय किया जाए। 
  • औसत अंकों के लिए तीन बिंदुओं पर कार्य किया जाए तो गड़बड़ी नहीं होगी। 
  • स्नातक के द्वितीय, चतुर्थ व छठे सेमेस्टर व स्नातकोत्तर के चतुर्थ सेमेस्टर की आतरिक परीक्षा में छात्रों को पिछले सेमेस्टर अंकों के औसत आधार पर विभागीय समितियां अंक दें।
  • जिन विद्यार्थियों ने असाइनमेंट ऑनलाइन जमा किए हैं, उन्हें उनके असाइनमेंट पर अंक दिए जाएं। 
  • ऑनलाइन कक्षाओं के ओवरऑल परफॉरमेंस पर भी अंक दिए जाएं। 
  • सभी महाविद्यालय के प्राचार्य विवि के कैलेंडर के आधार पर कार्य करते हुए ग्रीष्म अवकाश पर सहमत हैं। 
  • बैक परीक्षा और री-एडमिशन के लिए विश्वविद्यालय से निर्देश लिए जाएं। 
  • एमकेपी कॉलेज के शिक्षकों और कर्मचारियों को शीघ्र वेतन जारी करें।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Board Exam 2020: शेष बोर्ड परीक्षाएं 20 से 23 जून तक प्रस्तावित, मास्क पहनकर आना अनिवार्य

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस