देहरादून, अशोक केडियाल। उत्तराखंड में करीब 30 घंटे से हो रही बारिश व बर्फबारी के बाद मैदान से लेकर पहाड़ तक में लोग कड़ाके की ठंड से जूझते हुए नजर आए। पहाड़ों व मैदानों में तापमान सामान्य से काफी नीचे रहा। मौसम विज्ञान केंद्र ने प्रदेश के 10 शहरों में अत्यधिक ठंड के कारण 'कोल्ड-डे कंडीशन' घोषित की। इससे पहले आठ दिसंबर 2017 को भारी बारिश और बर्फबारी के बाद प्रदेश के आठ शहरों में कोल्ड-डे कंडीशन बनी थी।

देहरादून के अलावा मसूरी, उत्तरकाशी, टिहरी, जोशीमठ, अल्मोड़ा, नैनीताल, मक्तेश्वर, चंपावत व पिथौरागढ़ में अधिकतम तापमान 15 डिग्री से नीचे और न्यूनतम तापमान मैदान में 10 डिग्री व पहाड़ोंमें पांच डिग्री से नीचे दर्ज किया गया।

ऐसी स्थिति को मौसम विज्ञान केंद्र कोल्ड-डे कंडीशन मानता है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने कोल्ड-डे कंडीशन की पुष्टि करते हुए बताया कि मैदानों से लेकर पहाड़ों तक में अधिकतम तापमान छह से आठ डिग्री तक गिरा है। पहाड़ों में अधिकतर क्षेत्रों में न्यूनतम तापमान शून्य से दो डिग्री के आसपास रिकॉर्ड किया गया, जिससे मैदान में कोल्ड-डे जबकि पहाड़ों में हाई कोल्ड-डे कंडीशन बनी। इसी दौरान केवल हरिद्वार और ऊधमसिंहनगर में अधिकतम तापमान 15 डिग्री सेल्सियस से ऊपर रहने के कारण वहां कोल्ड-डे कंडीशन नहीं बनी।

अचानक से गिरे पारे के कारण मसूरी का अधिकतम तापमान सामान्य से सात डिग्री नीचे 5.6 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया,  जबकि नैनीताल का अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे महज 6.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। प्रदेशभर में सबसे न्यूनतम तापमान केदारनाथ में माइनस 13 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया, जबकि मुक्तेश्वर में न्यूनतम तापमान मानइस 1.7 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया। जिससे कई साल बाद मुख्य बाजार में बर्फबारी हुई।

आज भी स्कूलों में रहा अवकाश

मैदानों में लगातार हो रही बारिश से अत्यधिक ठंड व पहाड़ों में भारी बर्फबारी के मद्देनजर देहरादून के जिलाधिकारी सी रविशंकर ने शनिवार को भी पहली से 12वीं तक के सभी सरकारी एवं निजी स्कूलों में अवकाश घोषित किया।

दून में ठंड से जनजीवन रहा प्रभावित

पिछले चौबीस घंटे से लगातार हो रही बारिश के कारण समूचा शहर कड़ाके की ठंड की चपेट में है। जिससे दिन के समय भी बाजारों में ज्यादा भीड़ नहीं देखी गई। सरकारी व निजी स्कूलों में अवकाश घोषित होने के कारण स्कूली छात्र-छात्राओं को राहत मिली, लेकिन नौकरी पेशा लोगों को गर्म पकड़े पहनने के बावजूद ठंड से जूझना पड़ा। राजपुर रोड, चकराता रोड, प्र‍ि‍ंस चौक, घंटाघर, हरिद्वार रोड, बल्लुपुर चौक, माजरा, आइएसबीटी, ट्रांसपोर्टनगर में आम दिनों के मुकाबले अधिक चहल-पहल नहीं देखी गई। जो लोग बाजारों में थे भी वह चाय की दुकानों व अलाव जलाकर ठंड से बच रहे थे।

समूचे उत्तर भारत में बढ़ी ठिठुरन

11 दिसंबर की शाम से 14 दिसंबर दोपहर तक समूचे उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ के सक्रिय होने के कारण उत्तराखंड, जम्मू-कश्मीर व हिमाचल में बारिश और भारी बर्फबारी की संभावना पहले ही व्यक्त की गई थी। इस दौरान एनसीआर क्षेत्र में भी बारिश के कारण अधिकतम तापमान में चार से छह डिग्री सेल्सियस की कमी दर्ज कर गई है। दिल्ली, चंडीगढ़, हरियाणा, पंजाब व उत्तर प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में पिछले दो दिनों से लगातार बारिश हो रही है।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather: पहाड़ों की रानी मसूरी में हुई बर्फबारी, पर्यटकों के चेहरे खिले

पिछले 24 घंटे में हुई बारिश

शहर--------------बारिश (मिलीमीटर में)

उत्तरकाशी-------34.1

रुद्रप्रयाग---------33.4

पंतनगर----------30.4

टिहरी-------------27.5

मसूरी-------------24.6

देहरादून----------22.5

पिथौरागढ़-------20.2

अल्मोड़ा---------20.1

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Weather: चारधाम सहित ऊंची चोटियों ने ओढ़ी बर्फ की चादर, मैदानों में बारिश और शीतलहर

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस