देहरादून, [जेएनएन]: मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने हरिद्वार नगर निगम के अधिकारियों को कड़ी फटकार लगार्इ है। सीएम ने उन्हें जल्द से जल्द कूड़ा निस्तारण जल्द से जल्द करने के निर्देश दिए हैं। सीएम ने अधिकारियों को चेतावनी दी है कि अगर शहर में कूड़ा निपटान की व्यवस्था समय से सुनिश्चित नहीं की जाती तो संबंधित अधिकारियों पर सख्त कार्रवार्इ की जाएगी। 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सचिवालय में हरिद्वार जिले के सौन्दर्यीकरण और हरितीकरण के संबंध में बैठक ली। इस दौरान सीएम ने जिले के बाहरी क्षेत्रों में बूचड़खानों से निकलने वाले खून और मांस को नालों में सीधा प्रवाहित करने की घटनाओं पर कड़ाई से रोक और सख्त निगरानी के निर्देश दिए। स्थानीय लोगों की शिकायत का संज्ञान लेते हुए मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारी को बरसात के दौरान सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट के बंद होने की घटनाओं की जांच के आदेश भी दिए। 

सीएम ने नालों को एसटीपी (सीवरेज ट्रीटमेन्ट प्लांट) से जोड़ने और सफाई सुनिश्चित करने के लिए जल्द जल्द टेक्निकल सर्वे और अन्य मामलों के निपटान के निर्देश दिए। सीएम ने कहा कि हमें 2021 हरिद्वार कुंभ से पहले प्रदेश के लगभग 135 नाले जिसमें कि 23 हरिद्वार में स्थित है, की स्वच्छता व पुनर्जीवीकरण सुनिश्चित करना हैं।

यह भी पढ़ें: 'अंधेर' नगर निगम, 'चौपट' सफाई व्यवस्था, स्वच्छता सर्वेक्षण ने खोली पोल

यह भी पढ़ें: कोर्ट कमिश्नर ने देखी हरिद्वार में गंगा घाटों पर सफाई की हकीकत

Posted By: Raksha Panthari