विकास गुसाईं, देहरादून: Chardham Yatra 2023: चारधाम यात्रा में लगे व्‍यावसायिक वाहन स्‍वामियों के लिए राहत भरी खबर है। अप्रैल से शुरू होने वाली चारधाम यात्रा में जाने वाले वाहनों के ग्रीन कार्ड व ट्रिप कार्ड अब मोबाइल पर भी बन सकेंगे।

इसके लिए परिवहन विभाग ने मोबाइल एप तैयार कर लिया है। इस एप को यात्रा के लिए पंजीकरण करने वाली पर्यटन विभाग की वेबसाइट से जोड़ने की तैयारी है।

वर्ष 2022 में देखने को मिली थी विसंगति

फोकस इस बात पर है कि पंजीकरण के बाद दर्शन करने की तिथि और ट्रिप कार्ड की तिथि में अंतर न रहे। वर्ष 2022 में हुई चारधाम यात्रा में इस तरह की विसंगति देखने को मिली थी।

इस एप में चारधाम के साथ ही हेमकुंड साहिब और एक अन्य धार्मिक स्थान के विकल्प को भी शामिल किया जाएगा, ताकि भ्रमण के दौरान किसी धाम में दर्शन की तिथि न मिलने पर अन्य धार्मिक स्थल पर जाया जा सके।

प्रदेश में हर साल चारधाम यात्रा पर जाने वाले वाहनों के ग्रीन कार्ड बनाए जाते हैं। ग्रीन कार्ड का अर्थ यह होता है कि वाहनों के कागजात दुरुस्त हैं और वाहन यात्रा मार्ग पर संचालन के लिए पूरी तरह ठीक है।

बीते वर्ष से ग्रीन कार्ड के साथ ही ट्रिप कार्ड भी जारी किया जा रहा है। यह कार्ड 10 दिन के लिए जारी होता है। इससे वाहन की लोकेशन के बारे में जानकारी मिलने में मदद मिलती है।

आनलाइन ग्रीन कार्ड व ट्रिप कार्ड की व्यवस्था की गई थी

गत वर्ष प्रदेश सरकार ने यात्रियों का पंजीकरण शुरू किया था। यह पंजीकरण पर्यटन विभाग की वेबसाइट पर किया जाता था। पंजीकरण के दौरान यात्रियों को अपने ग्रुप की कुल संख्या और धाम में दर्शन की प्रस्तावित तिथि के संबंध में जानकारी देने की व्यवस्था की गई। इसके साथ ही यात्रा में जाने वाले वाहनों के लिए आनलाइन ग्रीन कार्ड व ट्रिप कार्ड की व्यवस्था की गई।

शुरुआत में यह व्यवस्था ठीक चली, लेकिन जब चारधाम में यात्रियों को नियंत्रित किया जाना शुरू किया गया तो इस व्यवस्था में दिक्कत आई, जिसे इस वर्ष दूर करने का प्रयास किया जा रहा है। इस कड़ी में परिवहन विभाग ने मोबाइल एप बनाया है। इस एप में चारधाम के साथ ही हेमकुंड साहिब व एक अन्य स्थान के दर्शन का विकल्प रखा गया है।

परिवहन व पर्यटन विभाग की वेबसाइट से लिंक होगी एप

इस एप को परिवहन व पर्यटन विभाग की वेबसाइट से लिंक किया जाएगा, ताकि ग्रीन कार्ड व ट्रिप कार्ड प्रयोग करते समय कोई परेशानी न हो। इस एप का शुरुआती परीक्षण हो चुका है। अब सचिव परिवहन के साथ इस एप व चारधाम यात्रा के संबंध में बैठक प्रस्तावित है, जहां इस एप को नाम देने के साथ ही इसे लांच करने के संबंध अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

Edited By: Nirmala Bohra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट