देहरादून, जेएनएन। सीबीआइ ने बैंक ऑफ बड़ौदा के मैनेजर जुनैद खान को पचास हजार रुपये की रिश्वत लेते शनिवार शाम रंगे हाथ गिरफ्तार किया। उससे वसंत विहार स्थित सीबीआइ मुख्यालय में पूछताछ की जा रही है। उधर, दूसरी टीम मैनेजर के आइएसबीटी के पास स्थित घर पर छानबीन कर रही है। सीबीआइ ने उसके घर से कई दस्तावेज जब्त किए गए हैं। आरोपित बैंक मैनेजर को रविवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

पुलिस के अनुसार अमित कुमार शर्मा दून कंसल्टेंसी फर्म चलाते हैं। यह फर्म विभिन्न बैंकों के लिए रिकवरी का काम करती है, जिसमें बैंक ऑफ बड़ौदा भी शामिल है। कुछ दिन पहले रिकवरी के बदले बैंक ने 19 और 20 सितंबर को फर्म को आठ लाख रुपये का पेमेंट किया। इसके बाद बैंक ऑफ बड़ौदा के क्षेत्रीय कार्यालय में तैनात रिकवरी सेल के मैनेजर जुनैद खान ने अमित से कहा कि वह उन्हें पचास फीसदी कमीशन नहीं देगा तो आगे से उसे रिकवरी का काम नहीं मिलेगा। 

अमित ने कहा कि इतनी रकम अभी वह बैंक से नहीं निकाल सकता। इस पर जुनैद ने कहा कि पचास हजार रुपये अभी दे दो, बाकी रकम बाद में ले लेगा। पचास हजार रुपये पर सहमति बनने के बाद शनिवार को जुनैद ने अमित को एस्ले हाल चौक पर बुलाया। मगर रिश्वत देने से पहले उसने सीबीआइ को पूरा प्रकरण बता दिया। सीबीआइ ने ट्रैप टीम तैयार की और एस्ले हाल चौक के पास जैसे ही जुनैद ने रकम हाथ में ली, सादे कपड़ों में आसपास तैनात सीबीआइ के इंस्पेक्टर प्रशांत कांडपाल और नवनीत मिश्रा ने उसे दबोच लिया। एसपी सीबीआइ अखिल कौशिक ने बताया कि जुनैद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। उसे रविवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा।

घर पर देर तक चली तलाशी

जुनैद से सीबीआइ मुख्यालय में पूछताछ की जा रही है। इसके साथ इंस्पेक्टर सुनील लखेड़ा, मनींद्र चौधरी व एसएस मयाल की टीम ने देर शाम आइएसबीटी के पास स्थित उसके घर पहुंची, जहां उसके घर की सघन तलाशी ली गई। सूत्रों की मानें तो सीबीआइ ने यहां चल-अचल संपत्तियों से जुड़े कई दस्तावेज कब्जे में लिए हैं। सीबीआइ उसकी आय और परिसंपत्तियों का भी मिलान करने में जुटी है। 

यह भी पढ़ें: साढ़े छह लाख के नकली नोट के साथ दो चढ़े पुलिस के हत्थे, ऐसे तैयार करते थे नोट

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस