मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

देहरादून, जेएनएन। श्री महंत इंदिरेश अस्पताल के हृदय रोग विशेषज्ञों की टीम ने एक मरीज को नया जीवन दिया है। दरअसल, हृदय रोग के प्रति लापरवाही और जागरूकता के अभाव में मरीज की जान पर बन आई थी। 

पौड़ी जिले के साडा गांव निवासी वीरेंद्र सिंह (61 सिंह) किसान हैं। बीती जून के प्रथम सप्ताह उन्हें सीने में दर्द की शिकायत हुई थी। इसे सामान्य दर्द मानते हुए उन्होंने नजरअंदाज कर दिया और दर्दनाशक दवाइयां लेते रहे। सीने में लगातार दर्द रहने पर वह उपचार के लिए श्री महंत इंदिरेश अस्पताल पहुंचे। यहां पर चिकित्सकों ने प्रारंभिक जांच में पाया कि वीरेंद्र को गंभीर हार्ट अटैक पड़ा है। वरिष्ठ कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. अमर उपाध्याय नेमरीज की एन्जियोप्लास्टी की और दिल की नस में आए ब्लॉक को खोला। 

एन्जियोप्लास्टी के चार-पांच घंटे तक मरीज सामान्य रहा, लेकिन अचानक उनका ब्लड प्रेशर गिरने लगा और बेहोशी छाने लगी। इसके बाद मरीज को चिकित्सकों ने सीपीआर दी। इसके बाद चिकित्सकों की टीम ने मरीज के हार्ट की बाहरी झिल्ली में भरे ब्लड को अरजेंट पैरिकॉर्डियो सेंटेसिस से निकाला व पांव की नस के रास्ते दोबारा मरीज के शरीर में चढ़ा दिया। कार्डियक सर्जन डॉ. अशोक जयंत ने ओपन हार्ट सर्जरी कर मरीज के दिल के उस हिस्से की मांशपेशी को रिपेयर किया जहां से रक्तस्राव हो रहा था। 

यह भी पढ़ें: दुर्घटना में फट चुके हार्ट की सफल सर्जरी कर युवक को दी नई जिंदगी

यह भी पढ़ें: इस तकनीक से अब बिना ऑपरेशन होगा इलाज, जानिए Dehradun News

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Raksha Panthari

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप