जागरण संवाददाता, देहरादून: आबकारी अधिकारी पर दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने वाली महिला के खिलाफ अब आरोपित अधिकारी ने भी डालनवाला कोतवाली में ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज कराया है। शिकायतकर्त्‍ता आबकारी अधिकारी मनोज कुमार उपाध्याय निवासी कालीदास रोड, देहरादून ने बताया कि वह सहायक आबकारी आयुक्त के पद पर तैनात हैं। 2016-17 में इंटरनेट मीडिया के माध्यम से उनकी महिला के साथ बातचीत हुई थी। महिला ने कहा कि वह बेसहारा व तलाकशुदा है। उसके दो बच्चे हैं, जो कि देहरादून स्थित एक बोर्डिंग स्कूल में पढ़ते हैं। सितंबर 2017 में महिला अपने बेटे का जन्मदिन मनाने के लिए देहरादून आई और ईसी रोड स्थित एक स्टोर में रुकी। महिला ने खुद को मूल रूप से बनारस और शादी के बाद गुरुग्राम में रहने वाली बताया। इसके बाद दोनों के बीच सामान्य बातचीत होने लगी।

महिला ने बताया कि वह एक कंपनी की एजेंट है व इंश्योरेंस पालिसी कर अपना जीवन यापन कर रही है। आबकारी अधिकारी ने बताया कि महिला ने निवेदन किया कि उसकी कुछ इंश्योरेंस पालिसी करवा दें तो उसकी समस्या दूर हो जाएगी। जिसके बाद उन्होंने कुछ पालिसियां करवा दी।

धीरे-धीरे महिला का लालच बढ़ने लगा और वह और पालिसियां कराने का दबाव बनाने लगी। महिला ने धमकी दी कि यदि उसका टारगेट पूरा नहीं हुआ तो वह उसे फंसा देगी। ऐसे में उन्होंने महिला से बातचीत करनी बंद कर दी। साजिश के तहत महिला ने गुरुग्राम में उनके खिलाफ झूठी शिकायत दर्ज करवा उनके खिलाफ दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करवा दिया। आबकारी अधिकारी ने कहा कि वह अपना ब्रेन मेपिंग व पालीग्राफ टेस्ट करवाने को तैयार हैं।

महिला के बयान दर्ज

आबकारी अधिकारी पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली महिला मंगलवार को देहरादून पहुंची। पुलिस ने उनके बयान दर्ज करवाए। इंस्पेक्टर एनके भट्ट ने बताया कि महिला का मेडिकल करवाया जाएगा। इसके अलावा महिला की ओर से जिस जगह दुष्कर्म के आरोप लगाए हैं, वहां के दस्तावेज भी जुटाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें:- देहरादून : उधार मांगी धनराशि हड़पने पर तीन लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

Edited By: Sunil Negi