देहरादून, [जेएनएन]: कारगिल युद्ध में घायल कैप्टन अखिलेश सक्सेना की पत्नी शिखा सक्सेना मिसेस इंडिया क्वीन ऑफ सब्सटेंस-2018 के ग्रैंड फिनाले में पहुंच गई हैं। शिखा देहरादून में ही पली-बढ़ी हैं। खास बात ये है कि शिखा ने ग्रैंड फिनाले में सैनिक आश्रितों और बच्चों के लिए फंड जुटाने को विकल्प के तौर पर चुना है। 

शिखा का कहना है कि वो सैनिक की पत्नी होने के कारण उसके परिवार का दर्द बखूबी समझती हैं। कारगिल कॉलोनी (नई दिल्ली) निवासी शिखा सक्सेना ने बताया कि प्रतियोगिता का ग्रैंड फिनाले 13 अप्रैल को है। फिनाले में 42 प्रतिभागी पहुंचे हैं। 

उन्होंने बताया कि ऑडिशन में एनआइआइ समेत देशभर से एक हजार प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया था। कहा कि ग्रैंड फिनाले में प्रतिभागियों में चिल्ड्रन केयर, सोशल वर्क, डिसेबल सोल्जर फैमिली एंड चिल्ड्रन फंड रेज, वूमैन इंपावरमेंट समेत कई कैटेगरी को चुनना है। 

उन्होंने बताया कि उनके पति 1999 में कारगिल युद्ध के दौरान तीन गोलियां लगने से घायल हो गए थे। इसके बाद उन्हें शारीरिक कष्ट झेलना पड़ रहा है। वह सैनिक के परिवार का कष्ट समझती हैं। इसलिए उन्होंने प्रतियोगिता के लिए सैनिक के आश्रितों एवं बच्चों के लिए धनराशि जुटाने का फैसला किया है। 

उन्होंने बताया कि कार्यक्रम में प्रोजेक्ट के अलावा वोटिंग का भी अहम रोल है। इसमें फेसबुक, ट्विटर समेत सोशल साइट्स के माध्यम से भी वोटिंग कर सकते हैं। देहरादून निवासी शिखा के पिता राजेंद्र प्रसाद ने प्रदेशवासियों से वोट की अपील की है।

यह भी पढ़ें: स्टूडेंट आफ ईयर-2 के लिए दून में जुटेंगे बॉलीवुड सितारे

यह भी पढ़ें: पंजाबी गानों का सुरूर छात्रों के सिर चढ़कर बोला, जमकर लगे ठुमके 

यह भी पढ़ें: संगीता के संगीत और सुर की जुगलबंदी पर थिरके छा

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप