देहरादून, जेएनएन। सैन्य सेवा के दौरान ही नहीं, बल्कि सेवानिवृत्त होने के बाद भी सेना अपने जवानों का सम्मान करना नहीं भूलती। मरणोपरांत भी जवानों को उनकी वीरता के लिए सम्मान मिलता है। यही वजह कि प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस व गणतंत्र दिवस के अवसर पर जारी होने वाली वीरता पदक व ऑनर प्राप्त जवानों की सूची में सेना के रिटायर जवानों का नाम भी शामिल होता है। सैन्य सेवा के दौरान सराहनीय कार्य करने वाले इन जवानों को रिटायरमेंट के बाद ऑनरेरी रैंक की उपाधि/सम्मान दिया जाता है। इस गणतंत्र दिवस पर थलसेना ने कुल 295 रिटायर जूनियर कमीशंड आफिसर (जेसीओ) को ऑनरेरी कैप्टन का रैंक/सम्मान प्रदान किया है। इसमें गढ़वाल राइफल्स के 22 व कुमाऊं रेजीमेंट के 21 सेवानिवृत्त जेसीओ भी शामिल हैं।

गढ़वाल राइफल्स के रिटायर सूबेदार मेजर/ऑनरेरी लेफ्टिनेंट बलवंत सिंह, दरवान सिंह, दिनेश कुमार, महिपाल सिंह बिष्ट, चंद्रमोहन सिंह, देवेंद्र प्रसाद, धीरज कुकरेती, दिनेश सिंह रावत, जबर सिंह चौहान, लाल सिंह, महादेव प्रसाद, महेंद्र सिंह, मातबर सिंह, मेहरवान सिंह, मातबर सिंह बिष्ट, प्रेम सिंह, सरत सिंह, शक्ति सिंह, शिशुपाल सिंह, ताजवर सिंह व विक्रम सिंह को ऑनरेरी रैंक का सम्मान मिला है। वहीं, कुमाऊं रेजीमेंट के सूबेदार मेजर/ऑनरेरी लेफ्टिनेंट मुकेश, रघुबीर सिंह, अभय सिंह, दलीप सिंह, दीवान सिंह, डीवी यादव, दुर्गा सिंह कनियाल, गोविंद सिंह, हीरा सिंह कपकोटी, किशन सिंह, ललित मोहन, महेश चंद्र, नरेन्द्र सिंह, पूरन चंद्र, आरबी शर्मा, राजेंद्र सिंह, राम अवतार, राजेंद्र बिष्ट, सुनील कुमार, राजेंद्र सुयाल व उमेद सिंह को ऑनरेरी रैंक मिला है। 

यह भी पढ़ें: मैती आंदोलन के प्रणेता को मिला पर्यावरण संरक्षण का ईनाम

बात अगर सेवारत जूनियर कमीशंड आफिसर की करें तो गणतंत्र दिवस के अवसर पर गढ़वाल राइफल्स के 28 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व छह को ऑनरेरी कैप्टन का रैंक मिला है। वहीं, कुमाऊं रेजीमेंट के 27 जेसीओ को ऑनरेरी लेफ्टिनेंट व पांच को ऑनरेरी कैप्टन के रैंक से नवाजा गया।

यह भी पढ़ें: ग्रामीण क्षेत्रों की तस्वीर संवारने में जुटे हैं डॉ. अनिल प्रकाश जोशी

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस