देहरादून, जागरण टीम : भारतीय सैन्य अकादमी (आइएमए) की पासिंग आउट परेड में निरीक्षण अधिकारी सेना प्रमुख जनरल मनोज पांडे होंगे। आगामी 10 दिसंबर को होने वाली परेड में शिरकत कर देश-विदेश के 344 जेंटलमैन कैडेट बतौर अधिकारी अपने-अपने देश की सेना का अभिन्न अंग बनेंगे। जिनमें दस मित्र देशों के 30 कैडेट शामिल हैं। बता दें, आइएमए एक अक्टूबर 1932 को अस्तित्व में आया था।

पिछले 90 वर्षों में अकादमी ने अपनी प्रशिक्षण क्षमता 40 से 1650 जैंटलमैन कैडेट तक बढ़ा दी है। इस दौरान अकादमी ने भविष्य की चुनौतियों व युद्धक्षेत्र की जटिलताओं को ध्यान में रखते हुए अपने पाठ्यक्रम, प्रशिक्षण पद्धति और बुनियादी ढांचे में दूरगामी बदलाव किए हैैं। अभी तक 64,145 जैंटलमैन कैडेट अकादमी से पास आउट हुए हैं। इसमें 35 मित्र देशों के 2813 विदेशी कैडेट भी शामिल हैं।

अकादमी प्रबंधन परेड की तैयारियों में जुटा

10 दिसंबर में होने वाली पासिंग आउट परेड के लिए सेना के तमाम वरिष्ठ अधिकारी, देश-विदेश के गण्यमान्य व कैडेट के स्वजन भी परेड देखने दून पहुंचेंगे। अकादमी प्रबंधन परेड की तैयारियों में जुटा हुआ है। पासिंग आउट परेड की जेंटलमैन कैडेट जमकर रिहर्सल कर रहे हैं।

परेड से पहले अकादमी में होंगे कई कार्यक्रम

परेड से पहले भी अकादमी में कई कार्यक्रम आयोजित होंगे। अकादमी अधिकारियों के अनुसार दो दिसंबर को ग्रेजुएशन सेरेमनी आयोजित होगी, जिसमें आर्मी कैडेट कालेज विंग के कैडेट को जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय की डिग्री से दीक्षित किया जाएगा। इसके बाद एसीसी विंग के यह कैडेट अकादमी का हिस्सा बन जाएंगे।

सात दिसंबर को कमांडेंट अवार्ड सेरेमनी आयोजित होगी। जिसमें सैन्य प्रशिक्षण के दौरान उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कैडेट को पुरस्कृत किया जाएगा। आठ दिसंबर की सुबह कमांडेंट परेड होगी, जबकि मुख्य पासिंग आउट परेड से एक दिन पहले यानी नौ दिसंबर को अकादमी में मल्टी एक्टिविटी डिस्प्ले शो आयोजित किया जाएगा।

Edited By: Mohammed Ammar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट