देहरादून, जेएनएन। राज्यभर में 15 लोगों को कोरोना से मिलते-जुलते लक्षण मिलने पर विभिन्न अस्पतालों के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया। 177 लोगों को सरकारी गेस्ट हाउस और घरों पर क्वारंटाइन किया गया। हरिद्वार और अल्मोड़ा जिले में दूसरे राज्यों से आए 472 लोगों की स्क्रीनिंग की गई।

15 नए मरीज भर्ती, 177 क्वारंटाइन

देश के अन्य राज्यों की तुलना में उत्तराखंड में कोरोना वायरस के संक्रमण के लिहाज से स्थिति फिलहाल स्थिर है। गुरुवार को राज्य में कोरोना का कोई नया मामला नहीं आया। हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज स्थित लैब से प्राप्त 30 सैंपलों की जांच रिपोर्ट में सभी निगेटिव हैं।

ऋषिकेश स्थित एम्स से भेजे गये बीस, हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज के चार व दून मेडिकल कॉलेज के तीन सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव मिली है। इस तरह प्रदेश से अब तक 323 सैंपल कोरोना जांच के लिए लैब भेजे गए हैं। इनमें से 278 की जांच रिपोर्ट मिल चुकी है। जिसमें 273 निगेटिव व पांच पॉजीटिव आई हैं। जबकि 45 मामलों की जांच रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

राज्य में जिन पांच मामलों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है, उनमें आइजीएनएफए के तीन प्रशिक्षु आइएफएस, एक अमेरिकी नागरिक व एक कोटद्वार के दुगड्डा ब्लॉक का रहने वाला युवक है। वहीं गुरुवार को अलग-अलग अस्पतालों से 40 सैंपल जांच के लिए लैब भेजे गए हैं। इनमें सबसे अधिक सात सैंपल जिला अस्पताल पौड़ी से लिए गए हैं। 

इसके अलावा जिला अस्पताल ऊधमसिंहनगर से छह, मेला अस्पताल हरिद्वार से चार, जिला अस्पताल उत्तरकाशी व नैनीताल से तीन-तीन, दून अस्पताल, एम्स ऋषिकेश, मिलिट्री अस्पताल व जिला अस्पताल पिथौरागढ़ से दो-दो सैंपल और श्री महंत इंदिरेश अस्पताल, ओएनजीसी अस्पताल, हल्द्वानी मेडिकल कॉलेज, बेस अस्पताल श्रीनगर, जिला अस्पताल अल्मोड़ा व सीएचसी टनकपुर से एक-एक सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा गया है। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से मिली जानकारी के अनुसार मरीजों को भर्ती करने के लिए अस्पतालों में 980 आइसोलेशन बेड की व्यवस्था की गई है। वर्तमान में अलग-अलग अस्पतालों में 50 कोरोना संक्रमित/संदिग्ध मरीज भर्ती हैं। 1681 लोग होम क्वारंटाइन में हैं।

इसके अलावा 53 क्वारंटाइन फैसिलिटी भी तैयार की गई है। जिसमें 1511 बेड उपलब्ध कराए गए हैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए 27 हजार 423 कर्मियों को प्रशिक्षित किया गया है। जिसमें 1311 चिकित्सक, 862 स्टाफ नर्स, 154 लैब टेक्नीशियन व 154 एंबुलेंस स्टाफ शामिल है। इसके अतिरिक्त 10021 आशाओं को भी प्रशिक्षण दिया गया है।

पौड़ी में 10 को किया भर्ती 

पौड़ी जिला अस्पताल में नौ संदिग्ध मरीजों को भर्ती कराया गया। इनमें आठ पुरुष और एक महिला शामिल है। ये सभी लोग गाजियाबाद, गोवा और दिल्ली से अपने गांव लौटे हैं। मुंबई से लौटी एक युवती को खांसी-जुकाम की शिकायत पर बेस अस्पताल श्रीनगर के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। उफाल्डा निवासी युवती मुंबई से परीक्षा देकर लौटी थी।

संदिग्ध क्वारंटाइन 

चमोली जिले में मैदानी क्षेत्रों से गांवों में पहुंचे नौ लोगों को होटलों में और 30 अन्य को होम क्वारंटाइन किया गया। इनमें से एक युवक चीन के शंघाई प्रांत से आया था। देहरादून के विकासनगर क्षेत्र में सउदी अरब और चेन्नई से लौटे 10 लोगों को होम क्वारंटाइन किया गया है। चंपावत में दिल्ली से आए 64 यात्रियों समेत चालक और परिचालक को क्वारंटाइन किया गया।

हरिद्वार में 383 लोगों की हुई स्क्रीनिंग

कुछ दिन पहले जयपुर से लौटे आइआइटी रुड़की के एक छात्र को सिविल अस्पताल रुड़की के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया। सीएमओ डॉ. सरोज नैथानी ने बताया कि जिले के विभिन्न क्षेत्रों में 383 लोगों की स्क्रीनिंग हुई।

छात्र के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए हैं। 14 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट निगेटिव आने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी देकर घर पर ही क्वारंटाइन रहने को कहा गया है। अल्मोड़ा जिले में साउथ अफ्रीका से लौटे ग्रामीण को बेस चिकित्सालय के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया गया है। 89 लोगों का थर्मल स्कैन किया गया।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में 62 और रिपोर्ट निगेटिव, 12 आइसोलेशन में भर्ती; 90 क्वारंटाइन

पांच सैंपल जांच को भेजे

जिला अस्पताल उत्तरकाशी से तीन कोरोना संदिग्धों के सैंपल जांच के लिए हल्द्वानी भेजे गए। एम्स ऋषिकेश से गुरुवार को दो कोरोना संदिग्ध मरीजों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए। ये दोनों मरीज आइसोलेशन वार्ड में भर्ती हैं।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: उत्तराखंड में सैंपल जांच के कार्यो में तेजी अब आएगी

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस