जागरण संवाददाता, देहरादून: प्लाट देने के नाम पर शातिर ने एक व्यक्ति से 20 लाख रुपये ठग लिए। डीआइजी गढ़वाल रेंज के आदेश पर कैंट कोतवाली पुलिस ने आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है।

डीआइजी गढ़वाल रेंज को दी तहरीर में पटेलनगर विद्या विहार फेस-2 निवासी अवधेश कुमार ने बताया कि उन्होंने 2017 में टीएचडीसी कालोनी निवासी सुबोध चंद से चायबाग कौलागढ़ में 20 लाख रुपये में प्लाट का सौदा तय किया था।

11 व 24 दिसंबर 2020 को उसने आरोपित को 20 लाख रुपये दिए। इसके बाद जब उसने प्लाट की रजिस्ट्री करवाने की बात कही तो आरोपित उसे टहलाता रहा। दबाव बढऩे पर आरोपित ने कहा कि प्लाट के दस्तावेज कहीं गायब हो गए हैं। मार्च 2021 में पीडि़त को पता चला कि आरोपित ने अधिक धनराशि लेकर किसी अन्य को प्लाट बेच दिया है। पीडि़त ने जब अपनी धनराशि वापस मांगी तो आरोपित ने उसे धमकाना शुरू कर दिया। इस मामले में कैंट कोतवाली व एसएसपी कार्यालय में शिकायत दर्ज करवाई गई, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। डीआइजी गढ़वाल रेंज करन सिंह नगन्याल के आदेश पर अब कैंट कोतवाली पुलिस ने आरोपित सुबोध चंद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें- उत्‍तराखंड : पांच सालों में 50 प्रतिशत बढ़े दुष्कर्म के मामले, डकैती व हत्या के मामलों में भी बढ़ोतरी

चार दुकानों से नकदी व सामान चोरी

क्लेमेनटाउन व प्रेमनगर थाना क्षेत्र में चोरों ने दुकानों से नकदी व सामान चोरी कर लिया। दोनों मामलों में मुकदमा दर्ज किया गया है।

टर्नर रोड निवासी भारत तनेजा ने क्लेमेनटाउन थाने में तहरीर दी कि उनकी टर्नर रोड में तनेजा साइकिल वक्र्स के नाम से दुकान है। 24 फरवरी की रात वह दुकान बंद करके घर चले गए। 25 फरवरी को जब वह दुकान खोलने के लिए आए तो दुकान की छत का दरवाजा टूटा मिला। अंदर जाकर देखा तो गल्ले में रखे एक लाख 53 हजार रुपये गायब मिले। बताया कि उनके बगल में ही उनके चचेरे भाई देवेंद्र तनेजा की कपड़े की दुकान व राजकुमार स्वीट शाप की दुकानों के भी दरवाजे तोड़कर चोर गल्ले में रखी नकदी चोरी करके ले गए। क्लेमेनटाउन थानाध्यक्ष दीपक कठैत ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। चोरों की तलाश की जा रही है।

दूसरी ओर प्रेमनगर स्थित ठाकुरपुर में चोरों ने हर्ष इलेक्ट्रानिक की दुकान से नकदी चोरी कर ली। दुकान में इन दिनों मरम्मत का काम चल रहा है। ऐसे में दुकान के मालिक हर्ष ने दुकान के आगे से तो ताले लगाए हुए थे, लेकिन पीछे पेंट की बाल्टियों से कवर किया था। चोर इसी रास्ते से दुकान के अंदर घुसे और नकदी व तारों के बंडल चोरी करके ले गए।

यह भी पढ़ें- आनलाइन ठगी : वाइन, सोना और मसाले खरीदने-बेचने के नाम पर चल रहा था खेल, एसटीएफ ने किया पर्दाफाश

Edited By: Sumit Kumar

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट