देहरादून, जेएनएन। अगर कुछ करने का जज्बा हो तो उम्र मायने नहीं रखती। इस बात को सच कर दिखाया है 11 वर्षीय अद्वैत क्षेत्री ने। अद्वैत ने इतनी कम उम्र में ऐसी बाइक का अविष्कार किया है, जो हवा से चलती है।

सेंट कबीर अकादमी में कक्षा छह में पढ़ रहे अद्वैत ने प्रेस वार्ता में इस बाइक की जानकारी साझा की। उन्होंने अपनी बाइक का नाम अद्वैत-ओटू रखा है। हर्रावाला निवासी अद्वैत के पिता आदेश क्षेत्री ने बताया कि वह अपना यूट्यूब चैनल भी चलाते हैं। अद्वैत ने बताया कि उनकी यह बाइक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत अभियान को समर्पित है।

ऐसे आया आइडिया

अद्वैत बताते हैं कि एक दिन वह गुब्बारे में हवा भर रहे थे। अचानक गुब्बारा हाथ से छूट गया और काफी ऊपर तक चला गया। यह देखकर अद्वैत के दिमाग में विचार आया कि जब हवा के दबाव से गुब्बारा उड़ सकता है तो बाइक क्यों नहीं चल सकती। इसके बाद वह अपने आइडिया को साकार करने में जुट गए।  

13 माह लगे बाइक बनाने में

अद्वैत के अनुसार यह बाइक बनाने में उन्हें 13 माह लगे। इस कार्य में पिता का शौक भी उनके काफी काम आया। अद्वैत के पिता आदेश का वैसे तो कंसट्रक्शन का बिजनेस है। लेकिन, उन्हें किशोरावस्था से ही बाइक मॉडीफाई करने का शौक है। अद्वैत का आइडिया सुनकर वह भी उसके साथ जुट गए। तकनीकी कार्यों के साथ उन्होंने बाइक के लिए जरूरी पार्ट एकत्र करने में मदद की।

ऐसे चलती है अद्वैत ओटू

अद्वैत ने बाइक में आगे की ओर दो टैंक लगाए हैं, जिनमें कंप्रेशर से हवा भरी जाती है। टैंकों के बीच छोटा-सा इंजन लगा है। टैंक में भरी हवा के दबाव से इंजन स्टार्ट होता है।

यह भी पढ़ें: शैल इको मैराथन इंडिया: इलेक्ट्रिक कार बनाने में ग्राफिक एरा को चौथा स्थान

हवा से चलने वाली कार

यह पूछे जाने पर कि एक बार हवा भरने के बाद यह बाइक कितने किलोमीटर चलेगी, अद्वैत के माता-पिता ने कहा, यह एक आइडिया है जिस पर काम किया गया है। एक बार हवा भरने पर यह बाइक कितने किलोमीटर चल पाएगी, यह किसी कॉमर्शियल कंपनी द्वारा इसे एडॉप्ट करने पर ही पता चल पाएगा।

यह भी पढ़ें: विज्ञान प्रदर्शनी में बाल विज्ञानियों ने पेश किए मॉडल, पढ़िए पूरी खबर

 

Posted By: Sunil Negi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस