संवाद सहयोगी, द्वाराहाट : उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षक संघ तथा शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ ने नई पेंशन योजना को अव्यवहारिक बताते हुए पुरानी योजना को लागू करने की आवाज बुलंद की है। कहा कि लगातार माग करने के बावजूद सरकार अनदेखी कर रही है। जिसे बर्दास्त नहीं किया जाएगा।

माध्यमिक शिक्षक संघ की जनपद इकाई ने सरकार द्वारा पुरानी पेंशन योजना को समाप्त करने पर रोष जताया है। आरोप लगाया कि सरकार की नई पेंशन योजना (एनपीएस) कर्मचारियों के हित में नहीं वरन इससे निजी कंपनियों को लाभ पहुंचाने का कार्य किया जा रहा। सरकारी कर्मचारियों के हित इस नई योजना से पूरी तरह प्रभावित हो रहे हैं। नई योजना अगर लाभकारी होती तो इसे मंत्रियों व विधायकों पर पहले लागू किया जाता। नई योजना कर्मचारियों के शोषण के लिए बनाई गई है। इसे वापस नहीं लिया गया तो सभी शिक्षक व कर्मचारी सड़कों पर उतरने को बाध्य होंगे। बाद में सीएम को ज्ञापन भेजा। इस दौरान माध्यमिक शिक्षक संघ अध्यक्ष गणेश भट्ट, उत्तराखंड शिक्षणेत्तर कर्मचारी संघ जिलाध्यक्ष जीतेंद्र चौधरी, चतुर सिंह पटवाल, गोपाल बुधोड़ी, मनोज भाकुनी, राजेंद्र बिष्ट, अनिल राजीव, नेहा ग्रेंडी, भावना हर्बोला, दीपा रानी, भूपेंद्र सिंह, पंकज सिंह धनिक, एसएस सिंह, गौरव आर्य आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस