जागरण संवाददाता, वाराणसी : काशी इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलॉजी में गुरुवार को सीयूईटी (कामन यूनिवर्सिटी एंट्रेंस टेस्ट) की परीक्षा देने आये परीक्षार्थियों व अभिभावकों ने परीक्षा शुरू होने में देरी होने पर हंगामा मचाने के साथ ही संस्थान कर्मियों से जमकर नोंकझोंक किया। सर्वर काम न करने की वजह से प्रथम व द्रितीय दोनों शिफ्ट की परीक्षा अंततः कैंसिल कर दी गयी।सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने हंगामा कर रहे परीक्षार्थियों व उनके अभिभावकों को किसी तरह समझा-बुझाकर माहौल शांत करा वापस घर भेजा।

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी द्वारा सीयूईटी के कराये जा रहे परीक्षा हेतु मिर्जामुराद स्थित केआईटी में परीक्षा सेंटर बनाया गया था।दो शिफ्ट में परीक्षा आयोजित रही। प्रथम शिफ्ट की परीक्षा देने हेतु सुबह नौ बजे सेंटर पर करीब बारह सौ छात्र-छात्राएं पहुंची थी।परीक्षा सेंटर के कक्ष में परीक्षार्थी पहुंच गए थे। सर्वर की खराबी के कारण आनलाइन परीक्षा नही शुरू होने पर कक्ष में घंटो इंतजार कर रहे परीक्षार्थी उग्र होकर परिसर के अंदर हंगामा खड़ा कर नारेबाजी करने लगे। हंगामा की सूचना मिलते ही थानाप्रभारी समेत भारी पुलिस फोर्स मौके पर पहुंच गयी।सेंटर इंचार्ज सचिन जैन द्वारा सर्वर की खराबी की बात बता प्रथम शिफ्ट की परीक्षा को कैंसिल कर नोटिस निकाल माहौल को शांत किया गया।

इस दौरान कई परीक्षार्थी परीक्षा के बाबत जहां एप्लिकेशन लिख उसे रिसीव कराने हेतु इधर-उधर भटकते रहे, वही अन्य मोबाइल में नोटिस का फोटो लेने हेतु धक्का-मुक्की करते रहे।प्रथम शिफ्ट के परीक्षार्थियों को परिसर से निकालने के बाद अपरान्ह तीन बजे से शुरू होने वाले द्रितीय शिफ्ट के करीब साढ़े सात सौ परीक्षार्थियों को अंदर प्रवेश देकर कक्ष में बैठाया गया, किंतु पुनः सर्वर काम न करने के चलते कंप्यूटर पर पेपर नही खुल सका।इधर, पेपर शुरू न होने के बावजूद बच्चों को पांच बजे तक कक्ष में बैठाये रखने से नाराज अभिभावकों ने संस्थान के गेट पर हंगामा शुरू कर परिसर में घुस गये।

अभिभावकों को देख परीक्षार्थी भी कक्ष से बाहर निकल हंगामा खड़ा कर दिये।अंततः द्रितीय शिफ्ट के पेपर को भी कैंसिल कर दिया गया।परिसर से बाहर निकलते ही परीक्षार्थी कुछ देर के लिये गेट पर बैठ धरना देने लगे।पुलिस ने समझाकर उन्हें घर भेजा।दोनों शिफ्ट की परीक्षा कैंसिल होने पर दूर-दराज से तैयारी कर आये परीक्षार्थी व उनके अभिभावक मायूस हो सिस्टम को कोसते हुये मायूस होकर वापस घर लौट गये।

Edited By: Saurabh Chakravarty