Move to Jagran APP

Lok Sabha Election: सहारनपुर से कांग्रेस ने इमरान मसूद को बनाया प्रत्याशी, बोटी-बोटी वाले बयान से चर्चा में आए थे

Lok Sabha Election Saharanpur Seat कांग्रेस ने तीसरी बार बनाया इमरान मसूद को प्रत्याशी बनाया है। अभी आधिकारिक रूप से घोषणा बाकी है। लेकिन पार्टी ने उन्हें सिंबल दे दिया है। इस बार उत्तर प्रदेश में कांग्रेस-सपा गठबंधन के तहत कांग्रेस के खाते में आई 17 सीटों में सहारनपुर सीट भी शामिल है। इमरान मसूद को हाल ही में बसपा ने निष्कासित किया था।

By Abhishek Saxena Edited By: Abhishek Saxena Published: Sat, 23 Mar 2024 07:03 PM (IST)Updated: Sat, 23 Mar 2024 07:03 PM (IST)
कांग्रेस ने तीसरी बार बनाया इमरान मसूद को प्रत्याशी

जागरण संवाददाता, सहारनपुर। अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी ने लोकसभा चुनाव में एक बार फिर पूर्व विधायक इमरान मसूद पर भरोसा जताते हुए उन्हें तीसरी बार सहारनपुर लोकसभा सीट से प्रत्याशी घोषित किया है। हालांकि अभी इसकी अधिकृत घोषणा नहीं हुई है, परंतु पार्टी ने उन्हें सिंबल दे दिया है।

निर्दलीय लड़ा था 2007 में चुनाव

  • मरहूम पूर्व केंद्रीय मंत्री काजी रशीद मसूद के भतीजे इमरान मसूद ने 2007 में मुजफ्फराबाद विधानसभा से निर्दलीय चुनाव लड़ा था और प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे जगरीश राणा को हराकर विधायक बने थे।
  • 2012 का विधानसभा चुनाव इमरान मसूद ने कांग्रेस के टिकट पर नकुड़ विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था। जिसमें उन्हें बसपा के डा. धर्म सिंह सैनी ने हराया था।
  • इसके बाद 2014 में कांग्रेस ने उन्हें लोकसभा चुनाव में प्रत्याशी बनाया था। परंतु चार लाख से अधिक वोट लेने के बावजूद उन्हें भाजपा प्रत्याशी राघव लखनपाल शर्मा से हार का मुंह देखना पड़ा था।
  • पार्टी ने उन्हें 2019 में अपना प्रत्याशी बनाया था परंतु इस चुनाव में सपा-बसपा गठबंधन के चलते बसपा के हाजी फजलुर्रहमान को जीत हासिल हुई थी और कांग्रेस तीसरे नंबर पर खिसक गई थी।
  • लगातार मिली हार के कारण 2022 के विधानसभा चुनाव से पहले इमरान मसूद कांग्रेस का हाथ छोड़कर सपा की साइकिल पर सवार हो गए थे।
  • पार्टी ने उन्हें कहीं से भी चुनाव नहीं लड़ाया था। जिस कारण यहां भी उनकी निष्ठा ज्यादा दिन नहीं रही।
  • नगर निगम चुनाव से सपा की साइकिल से उतरकर उन्होंने हाथी की सवारी करते हुए बसपा में शामिल हो गए थे।

ये भी पढ़ेंः UP News: अगर इन तारीखों में शादी-बरात का है कार्यक्रम, तो बसों का कर लें खुद बंदोबस्त, नहीं मिलेगी सरकारी मदद, ये है कारण

बसपा ने किया था निष्कासित

बसपा में रहते हुए उन्होंने अपनी भाभी खदीजा मसूद को महापौर का चुनाव लड़ाया था। इस चुनाव में भी उन्हें हार का सामना करना पड़। चुनाव परिणाम के कुछ समय बाद ही बसपा सुप्रीमों ने उन्हें पार्टी से निष्कासित कर दिया था। जिसके बाद वह अक्टूबर माह में एक बार फिर कांग्रेस में शामिल हो गए थे। सहारनपुर सीट पर कांग्रेस ने उन्हें तीसरी बार लोकसभा चुनाव में अपना प्रत्याशी बनाया है।

ये भी पढ़ेंः Banke Bihari Mandir: गुजरात से आकर बांकेबिहारी मंदिर में कर रहे थे ऐसा काम, पकड़े गए हो गए शर्म से पानी पानी

बोटी-बोटी वाले बयान से चर्चा में आए थे मसूद

लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेस नेता इमरान मसूद अपने बोटी-बोटी वाले बयान से खासी चर्चा में आए थे। हालांकि इस बयान के लिए उन पर केस दर्ज और उन्हें जेल में रहना पड़ा था। इसके बाद कांग्रेस ने उन्हें पार्टी का राष्ट्रीय सचिव बनाने के साथ ही दिल्ली प्रदेश का प्रभारी बनाया गया था। मगर कांग्रेस में उनकी पिछले दिनों दुबारा हुई एंट्री के बाद पार्टी ने उन्हें लोकसभा चुनाव लड़ने के लिए प्रत्याशी बनाया है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.