ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। माता-पिता की मौत का बदला लेने के लिए खुद की मौत का स्वांग रचने वाली पायल भाटी मामले में पुलिस हेमा चौधरी के पिता का डीएनए टेस्ट कराएगी। पायल के घर में जो शव मिला था वह हेमा का ही था या नहीं, इसकी पुष्टि के लिए डीएनए टेस्ट करवाया जाएगा।

फोरेंसिक टीम ने लिए बाल और खून के धब्बे के सैंपल

फोरेंसिक टीम ने घटनास्थल से बाल व खून के धब्बे के सैंपल लिए हैं। डीएनए टेस्ट के बाद ही पुष्टि हो पाएगी कि बरामद शव हेमा का था। बता दें कि जी टीवी पर आने वाले सीरियल कुबूल है को देखकर दादरी के बडपुरा गांव की रहने वाली युवती पायल भाटी ने प्रेमी के साथ मिलकर खुद की मौत का स्वांग रचा था।

हेमा चौधरी का गौर सिटी माल के सामने से करवाया था अपहरण

पायल ने प्रेमी अजय ठाकुर से खुद की कद काठी से मिलती-जुलती युवती हेमा चौधरी का गौर सिटी माल के सामने से अपहरण करवाया था। बडपुरा गांव में घर पर हेमा चौधरी की हत्या कर दी गई। स्वजन पहचान न सके, इस वजह से हेमा के चेहरे पर सरसों का गर्म तेल डालकर पहचान मिटा दी और पायल खुद प्रेमी के साथ फरार हो गई, ताकि स्वजन यह समझे कि पायल मर चुकी है।

माता-पिता की मौत का बदला लेने के लिए रची साजिश 

पायल ने यह पूरी साजिश अपनी माता-पिता की मौत का बदला लेने के लिए रची। पायल माता-पिता की मौत का जिम्मेदार अपनी भाभी स्वाति, बुआ के लड़के सुनील व भाभी के दो भाइयों गोलू व कौशिंद्र को मानती है। पायल की योजना चारों की हत्या करने की थी।

पायल के पिता ने सुनील से पांच लाख उधार लिए थे। उधार की रकम वापस करने के लिए सुनील पायल के पिता पर दबाव बनाता था। सुनील की हत्या करने के लिए पायल ने कई बार रेकी भी की थी।

ये भी पढे़ं- 

Greater Noida: 2 बच्चों का बाप है बॉयफ्रेंड, पता चलते ही पायल ने बनाया था मर्डर का प्लान; गिरफ्तार

Edited By: Abhishek Tiwari

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट