ग्रेटर नोएडा, जागरण संवाददाता। ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिजली संकट का जल्द हल हो सकता है। इस माह के अंत तक नोएडा के 123 सब स्टेशन से ग्रेटर नोएडा वेस्ट को सौ मेगावाट बिजली की आपूर्ति शुरू हो सकती है। सब स्टेशन पर काम माह के अंत तक पूरा होने की उम्मीद है।

ग्रेटर नोएडा वेस्ट में बिजली की मांग 130 मेगावाट तक पहुंच चुकी है। क्षेत्र की बढ़ती बिजली मांग को पूरा करने के लिए एनपीसीएल ने नोएडा सेक्टर 123 सब स्टेशन से ग्रेटर नोएडा वेस्ट से बिजली की लाइन डाली थी, लेकिन सब स्टेशन का कार्य पूरा न होने के कारण आपूर्ति शुरू नहीं हो सकी।

लोड अधिक होने के कारण लोगों को बिजली कटौती का सामना करना पड़ रहा है। कंपनी के वीपी सारनाथ गांगुली ने बताया कि इस माह के अंत तक सब स्टेशन पर काम पूरा होने की उम्मीद है। इससे ग्रेटर नोएडा वेस्ट को सौ मेगावाट बिजली उपलब्ध हो जाएगी।

ये भी पढ़ें-

ग्रेटर नोएडा में रहने वाले फ्लैट मालिकों को रोजाना हो रहा है घाटा, सामने आया बिल्डरों का चौंकाने वाला कारनामा

उल्लेखनीय है कि ग्रेटर नोएडा वेस्ट में एक लाख से अधिक फ्लैट में काफी संख्या में लोग रह रहे हैं। यह लोग एसी, कूलर से लेकर अन्य बिजली के कई उपकरण का इस्तेमाल कर रहे हैं। अगर प्रति फ्लैट पांच किलोवाट लोड भी मान लिया जाए तो 75 रुपये प्रति किलोवाट की दर से प्रति माह 3.75 करोड़ या सालाना 45 करोड़ रुपये की कमाई बिल्डर कर रहे हैं। जो एनपीसीएल को भुगतान के सापेक्ष काफी ज्यादा है।

लोगों का दावा है कि प्री पेड व देय तिथि से पूर्व भुगतान पर उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लि. उपभोक्ताओं को छूट भी देता है, लेकिन ग्रेटर नोएडा वेस्ट में प्री पेड मीटर उपभोक्ताओं को कोई छूट नहीं मिल रही, यह राशि भी सीधे बिल्डरों की जेब में जा रही है। यही नहीं आनलाइन भुगतान के नाम पर भी 25.30 रुपये प्रति उपभोक्ता वसूली की जा रही है।

Edited By: Abhishek Tiwari