नोएडा, जागरण संवाददाता। तीन से दस लाख की आबादी वाले शहरों में नोएडा ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 (Cleanliness Survey 2022) में एक बार फिर से प्रदेश में अपनी चौदराहट को बरकरार रखा है। इस श्रेणी में नोएडा को पांचवां स्थान हासिल हुआ है। हालांकि पिछले सर्वेक्षण में नोएडा को इस श्रेणी में चौथा पायदान मिला था, लेकिन एक पायदान नीचे खिसकने बावजूद प्रदेश में अव्वल स्थान पर काबिज रहने में नोएडा बरकरार रहा है।

सबसे बड़ी उपलब्धि नोएडा को ‘बेस्ट सेल्फ सस्टेनेबल सिटी’ के रूप में मिली है, जिसमें शहर को पूरे देश में अकेला सम्मान मिला है। यह अवार्ड अपने ही संसाधनों के जरिये शहर को साफ सुथरा बनाने और उसे बरकरार रखने के लिए दिया जाता है।

ये भी पढ़ें- Sonipat: देश-विदेशों में 500 से ज्यादा साइबर ठगी, तीन नाइजीरियन समेत चार गिरफ्तार; मुख्य आरोपित अभी भी फरार

देश में मिला 11वां स्थान

हालांकि सभी श्रेणियों में नोएडा को स्वच्छ सर्वेक्षण 2022 में 11वां स्थान मिला है। पिछले सर्वेक्षण में नोएडा इसी पायदान के लिए चुना गया था। इस पायदान को नोएडा बचा पाने में सफल रहा। देश भर के 4355 शहरों में नोएडा ने प्रतिभाग किया था।

दिल्ली में परिणाण हुआ घोषित

इसमें ओवरआल स्कोर 6332 रहा, जिसमें एसएलपी में 2556 अंक, जीएफसी में 1050, ओडीएफ में 600 और सिटिजन वोकल में 2126 अंक मिले है। शनिवार को दिल्ली स्थित तालकटोरा स्टेडियम में स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 का परिणाम घोषित किया गया।

नोएडा को मिलीं कई उपलब्धियां

देश में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले शहरों को सम्मानित करने के लिए बुलाया गया। ऐसे में नोएडा को कई उपलब्धियां मिलने पर उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास मंत्री नंद गोपाल गुप्ता ‘नंदी’ के साथ नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी और जन स्वास्थ्य विभाग के परियोजना अभियंता विजय कुमार रावल उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें- Haryana: रक्षा मंत्रालय का क्लर्क लापता, हनीट्रैप में फंसाकर मांगी मंत्रालय से जुड़ी जानकारी

सम्मान हासिल करने के बाद रितु माहेश्वरी ने कहा कि यह सम्मान शहर के लिए मील का पत्थर साबित होगा। शहरवासियों के सहयोग के बिना यह सम्मान संभव नहीं था। इसके लिए हमारे अधिकारी व कर्मचारियों ने अथक प्रयास किया है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में प्राधिकरण की स्थिति

वर्ष                 स्थान

2018             324वां

2019             250वां

2020               25वां

2021               11वां

2022               11वां

इन वजह से मिला अवार्ड

  • नोएडा के विभिन्न क्षेत्रों में स्वच्छता संबंधी वाल पेंटिंग कराकर नियमित गंदे होने वाले स्थानों को स्थाई रूप से सुंदर बनाया गया।
  • अधिक से अधिक संख्या में डिसेन्ट्राइज्ड कंपोस्ट प्लांट लगाकर सेक्टरों में ही कूड़े का निस्तारण किया गया।
  • सफाई मित्र सुरक्षा चैलेंज में प्रतिभाग कर सीवर संबंधित कार्य एवं सफाई कर्मियों की सुविधाओं को बेहतर किया गया।
  • 400 से अधिक कूड़ा स्थलों का सुंदरीकरण करते हुए खुले में कूड़ा डालने पर पूर्ण नियंत्रण में किया गया।
  • बायोरेमिडियेशन, डोर टू डोर गार्बेज कलेक्शन, मैकेनिकल स्वीपिंग, सीएंडडी वेस्ट निस्तारण एवं सभी कर्मचारियों की फेस एप द्वारा अटेडेंस आदि की आनलाइन मानिटरिंग किया जाना।
  • सैनिटेशन कार्यों की नियमित समीक्षा बैठक, स्थल निरीक्षण एवं मानिटरिंग के द्वारा कार्य की गुणवत्ता में अत्यधिक सुधार एवं तेजी लाई गई।
  • एनजीओ द्वारा सभी सेक्टरों एवं ग्रामों में स्वच्छता जागरूकता अभियान एवं सिंगल यूज प्लास्टिक का प्रयोग रोकने के लिए लोगों को जागरूक किया गया।
  • सिंगल यूज प्लास्टिक का यूज रोकने के लिए विभिन्न सेक्टरों में थैला बैंक स्थापित।
  • अधिक से अधिक संख्या में 69 सामुदायिक शौचालयों 102 सार्वजनिक शौचालयों, महिलाओं के लिए 16 पिंक शौचालयों एवं 119 यूरिनल ब्लॉक्स का निर्माण

Edited By: Geetarjun

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट