मुजफ्फरनगर, जेएनएन। तनाव के चलते दुष्कर्म पीड़िता युवती ने अपने ही घर में फांसी पर झूलकर खुदकशी कर ली। मृतका को एक वर्ष पूर्व भी घर लौटते समय सामूहिक दुष्कर्म का शिकार बनाया गया था। कुछ दिन पूर्व ही आरोपित जमानत पर बाहर आए थे। गांव बड़कली थाना दौराला निवासी मामा के विरुद्ध युवती को खुदकशी के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज कराया गया है। आरोपित युवती से दुष्कर्म का भी आरोप है।

शनिवार को क्षेत्र के एक गांव निवासी युवती ने अपने घर के टिन शेड में रस्सी से फांसी का फंदा लगाकर खुदकशी कर ली। घटना के एक घंटा बाद परिजनों ने पुलिस को मामले की सूचना दी। सीओ सदर कुलदीप सिंह, छपार पुलिस व फोरेंसिक जांच टीम के साथ पहुंचे। उन्होंने शव का गहनता से निरीक्षण कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। मृतका के बाएं हाथ पर पेंसिल से कुछ नाम लिखे पाए गए। जिसके बाद मृतका के पिता ने उसके मामा निवासी गांव बड़कली थाना दौराला जनपद मेरठ और कुछ अन्य लोगों के विरुद्ध आत्महत्या के लिए प्रेरित करने का मुकदमा दर्ज कराया है। बताया गया है कि करीब एक साल पहले युवती से रोहाना से अपने गांव लौटते समय तीन युवकों ने उसका अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म किया था। पुलिस ने इस मामले में आरोपितों को जेल भेजा था। कुछ दिन पहले ही आरोपित जेल से छूटकर आए।

---------------

चार वर्ष से थी परेशान

फांसी के फंदे पर झूलकर खुदकशी करने वाली युवती चार वर्ष से तनाव में चल रही थी। तनाव की बात परिजनों ने भी स्वीकारी है। चार वर्ष पूर्व मृतका ने अपने मामा पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। जिसके बाद रिश्तेदारों ने दोनों पक्षों में समझौता करा दिया था। पीड़िता समझौते के विरोध में थी, जिसके चलते वह तनाव में रहने लगी थी। एक वर्ष पूर्व हुई सामूहिक दुष्कर्म की घटना के बाद से उसकी दिनचर्या बदल गई थी।

---------

इन्होंने कहा.

प्रथम²ष्टया यह मामला खुदकशी का लग रहा है। तहरीर के आधार पर खुदकशी को उकसाने के आरोप में नामजद मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस अन्य पहलुओं पर भी जांच कर रही है।

-कुलदीप सिंह, सीओ सदर

-------------------------

राशिद अली

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप