मुरादाबाद, जेएनएन। दोहरीलाइन को स्टेशन से जोड़ने के लिए बुधवार को सीतापुर-रोजा रेल मार्ग नौ घंटे बंद रहेगा। हालांकि, दिन में ट्रेन नहीं होने से ट्रेनों का संचालन प्रभावित नहीं होगा। चार मार्च की रात से दोहरी रेलवे लाइन पर ट्रेनों का चलना शुरू हो जाएगा। 

रोजा से सीतापुर रेल मार्ग को मंडल में माल ढुलाई के ल‍िए प्रमुख रेल मार्ग माना जाता है। इसी मार्ग से पूर्वोत्तर राज्यों में माल भेजा जाता है। सीतापुर से रोजा के बीच 83 किलोमीटर के मार्ग पर लाइन बदलकर ट्रेनों की स्‍पीड सौ किमी प्रति घंटा कर दी गई है। विद्युतीकरण हो जाने से ट्रेनें इलेक्ट्रिक इंजन द्वारा चलाई जाती हैं। सिंगल रेल मार्ग होने से मालगाड़ी व ट्रेनों को चलाने में परेशानी आ रही है। रेल मंत्रालय ने इस मार्ग को दोहरीकरण करने की स्वीकृति दो साल पहले ही दी थी। रेलवे का निर्माण विभाग दोहरीकरण के साथ नए मार्ग पर विद्युतीकरण का काम भी तेजी से कर रहा है। प्रथम चरण में इस मार्ग पर पड़ने वाले नौ स्टेशनों में से तीन स्टेशन बरतारा, ऊंचेलिया व जंगबहादुर गंज स्टेशन के बीच दोहरीकरण का काम पूरा हो चुका है। नए रेल मार्ग को स्टेशन से जोड़ने का काम 25 फरवरी से चल रहा है। बुधवार को आठ बजे से शाम पांच बजे तक रोजा-सीतापुर रेल मार्ग को पूरी तरह बंद रखा जाएगा। तीन स्टेशनों से नई रेल मार्ग को जोड़ने के ल‍िए सिग्नल स‍िस्‍टम लगाने का काम होगा। इस दौरान रोजा-सीतापुर की ओर आने वाले ट्रेनों को सीतापुर बालामऊ होकर चलाया जाएगा। कोरोना संक्रमण के कारण ट्रेनें निरस्त हैं, इसलिए ट्रेन संचालन बाधित नहीं होगा। सहायक वाणिज्य प्रबंधक नरेश सिंह ने बताया कि गुुरुवार को कमिश्नर रेलवे आफ सेफ्टी (सीआरएस) एसके पाठक निरीक्षण करेंगे शाम तक इस मार्ग पर ट्रेन चलाने की अनुमत‍ि देने की संभावना है।

यह भी पढ़ें :-

मुरादाबाद में ट्रांसपोर्टर के बेटे की हत्या, रुपये देने के बहाने बुलाया और रॉड से कर द‍िया हमला, नाले से मिला शव 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021