मुरादाबाद, जागरण टीम। लिंक एक्सप्रेस में परिचित महिला के साथ दुष्कर्म करने के आरोपित टीटीई की सुपरवाइजर स्तरीय जांच के बाद सेवा समाप्त कर दी गई। उसने चंदौसी से सूबेदार गंज(प्रयागराज) जा रही महिला को एसी फर्स्ट क्लास कोच में बैठा लिया था। उसे नशीला पदार्थ पिलाकर साथी संग दुष्कर्म किया। जीआरपी ने 22 जनवरी को टीटीई को गिरफ्तार कर लिया था। उसका साथी फरार है।

ट्रेन के एसी कोच में हुआ था सामूहिक दुष्कर्म

चंदौसी की महिला 16 जनवरी को सूबेदारगंज जाने के लिए वहां स्टेशन पर दो वर्ष के बेटे संग लिंक एक्सप्रेस का इंतजार कर रही थी। परिचित टीटीई राजू सिंह ने उससे खड़े होने का कारण पूछा और ट्रेन के एसी कोच में बैठा लिया, जबकि महिला के पास जनरल टिकट था। रास्ते में टीटीई ने अपने साथी के साथ आकर महिला को पानी में नशीला पदार्थ पिला दिया, उसके बेहोश होने पर बेटे को ऊपर की बर्थ पर लिटा दिया और दोनों ने बारी-बारी से दुष्कर्म किया।

संबंधित खबरः

Sambhal Crime : एसी कोच में महिला से टीटीई ने किया दुष्कर्म, दो साल के बच्‍चे के साथ सफर कर रही थी पीड़‍िता

छह दिन बाद दर्ज कराई थी रिपोर्ट

महिला ने होश आने पर दूसरे कोच में सवार महिलाओं के साथ सफर तय किया। छह दिन बाद लौटकर उसने पति के साथ जाकर जीआरपी चंदौसी थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी। उसी दिन टीटीई को निलंबित कर दिया गया। सोमवार को दो सुपरवाइजर की टीम ने जांच की। सीआइटी चन्दौसी व अन्य स्टाफ से टीटीई के बारे में जानकारी ली। सीनियर डीसीएम सुधीर सिंह ने सेवा समाप्त का आदेश पत्र टीटीई को रिसीव करने के लिए भेज दिया है। 

Edited By: Abhishek Saxena

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट