यह भी पढ़ें: नाहिद हसन पर 17 तो सुरेश राणा पर तीन मुकदमें, सबसे अमीर प्रसन्न चौधरी, जान‍िए यूपी के प्रमुख उम्‍मीदवारों का लेखा-जोखा यह भी पढ़ें: नाहिद हसन पर 17 तो सुरेश राणा पर तीन मुकदमें, सबसे अमीर प्रसन्न चौधरी, जान‍िए यूपी के प्रमुख उम्‍मीदवारों का लेखा-जोखा stify;">मेरठ, चुनाव टीम। विधानसभा चुनाव का समर सज चुका है। राजनीति के योद्धाओं ने कमर कस ली है। पहले चरण के लिए नामांकन हो चुके हैं। नामांकन-पत्र में दिए गए विवरण के साथ प्रत्याशियों की कुंडली भी सरकारी दस्तावेज में दर्ज हो चुकी है। इसमें उम्र, संपत्ति से लेकर शिक्षा और आपराधिक छवि जैसे बिंदु हैं। पश्चिम यूपी के पांच जिलों में प्रमुख चार राजनीतिक दलों के प्रत्याशियों पर गौर करें तो मेरठ कैंट से भाजपा प्रत्याशी अमित अग्रवाल सबसे धनवान और एकमात्र अरबपति हैं। युवा प्रत्याशियों की फेहरिस्त में बुलंदशहर की स्याना सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पूनम पंडित सबसे ऊपर हैं, जबकि मुजफ्फरनगर की पुरकाजी सीट से बसपा प्रत्याशी एड. सुरेंद्र सिंह सबसे उम्रदराज हैं। सबसे ज्यादा बार चुनाव लड़ने वालों में बुलंदशहर के किरनपाल हैं तो, पढ़ाई-लिखाई के पैमाने पर बसपा के मेरठ दक्षिण से प्रत्याशी दिलशाद सबसे नीचे यानी अशिक्षित हैं। पेश है मेरठ, मुजफ्फरनगर, बुलंदशहर, बागपत और शामली जिले के प्रत्याशियों के नामांकन पत्रों में दर्ज उनके ब्यौरे पर आधारित रिपोर्ट...।

ये हैं सर्वाधिक धनवान

मेरठ कैंट से भाजपा प्रत्याशी अमित अग्रवाल 149 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। छपरौली से भाजपा प्रत्याशी सहेंद्र सिंह रमाला के पास 99.22 करोड़ रुपये की संपत्ति है। सिकंदराबाद विस सीट से गठबंधन प्रत्याशी राहुल यादव 90 करोड़ की संपत्ति के मालिक हैं। शामली से रालोद प्रत्याशी प्रसन्न चौधरी 16.09 करोड़ रुपये की संपत्ति के मालिक हैं। खतौली सीट के बसपा उम्मीदवार करतार सिंह भड़ाना के पास 13 करोड़ की चल संपत्ति है।

सबसे कम पूंजी वाले

मुजफ्फरनगर की मीरापुर सीट से बसपा प्रत्याशी मो. सलीम के बैंक में 2941 रुपये हैं। शामली जिले की कैराना सीट से बसपा प्रत्याशी राजेंद्र उपाध्याय के बैंक खातों में 45,468 रुपये जमा हैं। बुलंदशहर जिले की स्याना सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पूनम पंडित के पास तीन लाख रुपये की संपत्ति है। मेरठ दक्षिण से कांग्रेस प्रत्याशी नफीस के पास 23 लाख की संपत्ति है।

सर्वाधिक शिक्षित

बात करते हैं शिक्षित प्रत्याशियों की। मेरठ दक्षिण से भाजपा प्रत्याशी सोमेंद्र तोमर और किठौर से कांग्रेस प्रत्याशी बबीता पीएचडी हैं। बागपत की छपरौली सीट से रालोद के अजय कुमार एमएससी कृषि- पीएचडी हैं। बुलंदशहर जिले की डिबाई सीट से आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी डा. मनोज शर्मा हिंदी, संस्कृत व अंग्रेजी से पीएचडी हैं। साथ ही कैम्ब्रिज विवि लंदन व जिनेवा विवि स्विटजरलैंड से डिप्लोमा कोर्स किया है। वहीं, शामली सीट से भाजपा उम्मीदवार तेजेंद्र निर्वाल एमए-एलएलबी हैं। कैराना से सपा प्रत्याशी नाहिद हसन हेलमास इंस्टीट्यूट आस्ट्रेलिया से 2010 में बीबीए किया था। उनकी बहन इकरा हसन लंदन से इंटरनेशनल पालिटिक्स में एमएससी हैं।

सबसे कम शिक्षित

मेरठ दक्षिण से बसपा प्रत्याशी दिलशाद अशिक्षित हैं। शामली जिले की थानाभवन सीट से बसपा प्रत्याशी जहीर मलिक और कैराना सीट से कांग्रेस उम्मीदवार अखलाक केवल साक्षर हैं, जबकि कैराना सीट से बसपा प्रत्याशी राजेंद्र उपाध्याय 9वीं पास हैं। छपरौली से बसपा उम्मीदवार साहिक कक्षा आठ पास हैं। बुलंदशहर जिले की शिकारपुर सीट से बसपा उम्मीदवार हाजी रफीक फड्डा ने अपनी शिक्षा घरेलू शिक्षा अंकित की है।

इनकी उम्र सबसे कम

वैसे तो प्रत्याशियों में 50 साल से ऊपर वालों की संख्या भी बहुत है, लेकिन इस बार युवा प्रत्याशी कम नहीं हैं। सबसे कमउम्र वाले प्रत्याशियों में बुलंदशहर के स्याना सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पूनम पंडित हैं, उनकी उम्र 25 साल हैं। मेरठ की हस्तिनापुर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी अर्चना गौतम हैं जो 28 वर्षीय हैं। मुजफ्फरनगर शहर सीट से बसपा प्रत्याशी पुष्पांकर पाल 32 वर्ष के है तो, बागपत की बड़ौत सीट से कांग्रेस उम्मीदवार राहुल कुमार 34 वर्ष के हैं।

ये हैं सबसे ज्यादा उम्र वाले

मुजफ्फरनगर जिले की पुरकाजी सीट से बसपा प्रत्याशी एड. सुरेंद्र पाल सिंह 77 वर्ष के, वहीं बुलंदशहर जिले की शिकारपुर सीट से सपा प्रत्याशी किरनपाल सिंह 74 वर्ष के हैं। मेरठ की सिवालखास सीट से रालोद प्रत्याशी गुलाम मोहम्मद 69 वर्ष के हैं। बागपत की छपरौली सीट से रालोद प्रत्याशीअजय कुमार 64 वर्षीय हैं और शामली जिले की कैराना सीट से भाजपा प्रत्याशी मृगांका सिंह की उम्र 62 वर्ष है। शामली सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार अय्यूब जंग 61 वर्षीय हैं।

इनके दामन पर मुकदमों के दाग

मेरठ की सरधना सीट से सपा प्रत्याशी अतुल प्रधान पर 38 आपराधिक मामले दर्ज हैं, जबकि इसी सीट से आसपा प्रत्याशी भूपेंद्र बाफर पर 30 संगीन मामले दर्ज हैं। बुलंदशहर सदर सीट से रालोद उम्मीदवार हाजी यूनुस पर 23 मामले दर्ज है, जबकि सिकंदराबाद से सपा उम्मीदरवार राहुल यादव पर तीन मामले दर्ज है। शामली जिले की कैराना सीट से सपा प्रत्याशी नाहिद हसन पर 17 मुकदमे दर्ज हैं, जबकि मुजफ्फरनगर शहर सीट से भाजपा प्रत्याशी कपिल देव अग्रवाल पर सात मुकदमे दर्ज हैं। शामली जिले की थानाभवन सीट से भाजपा उम्मीदवार सुरेश राणा पर तीन मुकदमें दर्ज है।

सर्वाधिक बार चुनाव लड़ने वाले

बुलंदशहर जिले के रहने वाले पूर्व कैबिनेट मंत्री किरनपाल सिंह ने आठ बार विधानसभा व चार बार लोकसभा का चुनाव लड़ा। वह छह बार विधायक रहे और विधानसभा के दो चुनाव हारे। लोकसभा के सभी चारों चुनाव वह हारे हैं, 13 वीं बार वह शिकारपुर विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, शामली जिले की थानाभवन सीट से गन्ना मंत्री सुरेश राणा चौथी बार और कैराना सीट से सपा प्रत्याशी नाहिद हसन तीसरी बार चुनाव मैदान में हैं।

जिला --सीटें-- कुल प्रत्याशी-निर्दलीय-महिलाएं

मेरठ ---- 07-- 93 -- 19 --07

मुजफ्फरनगर -06 --97 --61 -- 01

बागपत ---- 03-- 35 --06 -- 02

शामली ---- 03 --41 --14---07

बुलंदशहर ---07 - 86---32---10

योग ------ 26 -352 - 132 --27

यह भी पढ़ें: चौधरी जंयत की पत्नी चारू के एकाउंट से हुए ट्वीट पर संजीव बालियान का वार, जान‍िए क्‍या कहा

यह भी पढ़ें: नाहिद हसन पर 17 तो सुरेश राणा पर तीन मुकदमें, सबसे अमीर प्रसन्न चौधरी, जान‍िए यूपी के प्रमुख उम्‍मीदवारों का लेखा-जोखा

यह भी पढ़ें: ये चुनाव यूपी का है... कहीं विधायक का विरोध तो कहीं नोट बांटने का वीडियो वायरल

यह भी पढ़ें: यह भी पढ़ें: वायरल वीडियो में इमरान मसूद का झलका गुस्सा, कहा- मुसलमानों एक हो जाओ, तुम्हारी वजह से मुझे पैर पकड़ने पड़े, मेरा कुत्ता...

यह भी पढ़ें: टिकट न मिलने पर फूट-फूट कर रोई कांग्रेस नेत्री, प्र‍ियंका वाड्रा के लिए कही ये बात

Edited By: Taruna Tayal