Move to Jagran APP

यूपी के इस जिले के लोगों के लिए खुशखबरी, 16 हजार परिवार को मिलेगा PM की सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का लाभ; शासन की ओर से घोषणा

पीएम सूर्य योजना अंतर्गत जनपद में 16 हजार घरों को सोलराइज किए जाने का लक्ष्य दिया गया है। योजना के तहत 300 यूनिट की बिजली (तीन किलोवाट सोलर रूफटाप की स्थापना पर) के साथ ही उपभोक्ताओं को केंद्र एवं राज्य सरकार की सब्सिडी दी जा रही है। सब्सिडी प्रावधान केवल डीसीआर न पैनल पर ही उपलब्ध है। अर्थात घरेलू उपभोक्ता अपने स्वीकृत विद्युत भार एक से 10 किलोवाट तक...

By Jaiprakash Nishad Edited By: Riya Pandey Wed, 29 May 2024 06:17 PM (IST)
यूपी के इस जिले के लोगों के लिए खुशखबरी, 16 हजार परिवार को मिलेगा PM की सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का लाभ; शासन की ओर से घोषणा
16 हजार परिवार को मिलेगा पीएम सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का लाभ

जागरण संवाददाता, मऊ। PM Surya Ghar Scheme: प्रधानमंत्री सूर्य घर मुफ्त बिजली योजना का लाभ घर-घर तक पहुंचाने के लिए सरकार द्वारा पहल की जा रही है। इसके तहत जनपद में 16 हजार उपभोक्ताओं को इसका लाभ दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसके तहत अब तक पोर्टल पर 515 उपभोक्ताओं ने आनलाइन पंजीकरण करा लिया है। सौर ऊर्जा संयंत्र लगवाने वाले उपभोक्ताओं को बिजली बिल से मुक्ति मिल जाएगी।

पीएम सूर्य योजना अंतर्गत जनपद में 16 हजार घरों को सोलराइज किए जाने का लक्ष्य दिया गया है। योजना के तहत 300 यूनिट की बिजली (तीन किलोवाट सोलर रूफटाप की स्थापना पर) के साथ ही उपभोक्ताओं को केंद्र एवं राज्य सरकार की सब्सिडी दी जा रही है। सब्सिडी प्रावधान केवल डीसीआर न पैनल पर ही उपलब्ध है। अर्थात घरेलू उपभोक्ता अपने स्वीकृत विद्युत भार एक से 10 किलोवाट तक का सोलर रूफटॉप लगा सकते हैं।

नान डीसीआर पैनल लगाने पर उपभोक्ता सब्सिडी का पात्र नहीं होगा। लेकिन उनके आवेदन भी पोर्टल पर स्वीकार्य होंगे। अर्थात वाणिज्यिक उपभोक्ता को सब्सिडी देय नहीं होगी। एक से दो किलोवाट विद्युत भार तक के घरेलू उपभोक्ताओं को सोलर रूफटॉप प्लांट लगाने के लिए केंद्र व राज्य सरकार द्वारा 75 प्रतिशत का अनुदान दिया जा रहा है।

नेडा कार्यालय के अनुसार, दो किलोवाट के सोलर रूफटॉप प्लांट की स्थापना पर लाभार्थी का अनुमानित व्यय पर 1,20,000 आता है। जो भी सोलर रूफटॉप लगाएगा, उसको पोर्टल पर पंजीकृत लाभार्थी को बैंक द्वारा ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। तीन किग्रा क्षमता तक के सोलर रूफटॉप की स्थापना कराने के लिए बैंकों द्वारा उपभोक्ता को सात प्रतिशत वार्षिक ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराने की व्यवस्था की गई है। जनपद में यूपी नेडा मुख्यालय से वेंडर के रूप में चार कंपनियों को इमपैनल्ड किया है।

बिजली मीटर बदलकर लगेगा नेट मीटर

आनग्रिड सोलर पावर प्लांट लगाने के बाद उपभोक्ता का बिजली मीटर बदलकर नेट मीटर लगाया जाता है। नेट मीटर में सोलर पावर प्लांट से प्रतिदिन उत्पादित बिजली रिकार्ड होती है। विद्युत विभाग द्वारा माह के अंत में बिजली की रीडिंग से सोलर के बिजली की रीडिंग घटाकर बिजली बिल बनाया जाता है। जिससे उपभोक्ता को बिजली बिल कम देना पड़ता है।

10 वर्गमीटर की जरूरत

उपभोक्ता के घर के छत पर 01 किलोवाट सोलर पावर प्लांट लगवाने के लिए 10 वर्गमीटर (लगभग 100 वर्गफीट) छायारहित छत की आवश्यकता होगी। विद्युत उपभोक्ता अपने विद्युत कनेक्शन की क्षमता के बराबर या उससे कम आनग्रिड सोलर पावर प्लांट लगवा सकता है। जिस नाम से विद्युत कनेक्शन है उसी के बैंक खाते में सोलर पावर प्लांट लगने के बाद केंद्रीय व राज्य अनुदान आएगा।

नेडा प्रभारी सुभाष यादव के अनुसार, उपभोक्ता वेबसाइट पर जाकर अथवा एप्लीकेशन अपने स्मार्ट फोन में डाउनलोड करें। इसके बाद बेवसाइट एवं एप्लीकेशन पर दी गई आवेदन प्रकिया अनुसार किया जा सकता है। इस योजना में कोई भी घरेलू विद्युत कनेक्शन का उपभोक्ता अपने घर पर आनग्रिड सोलर पावर प्लांट लगवा सकता है।

यह भी पढ़ें- Rail Fare: रेल यात्रियों को बड़ी राहत! पैसेंजर ट्रेनों का घटा किराया, अब 10 रुपये में होगा सफर; नई किराया सूची जारी