Move to Jagran APP

UP Politics: सैफई ने बहू डिंपल पर ऐसा प्यार लुटाया कि बसपा चारों खाने चित, योगी सरकार के मंत्री वोट को तरसे

Mainpuri Lok Sabha Seat News In Hindi सैफई के चार बूथों पर भाजपा को केवल 21 और बसपा को मात्र 12 वोट ही मिल सके। बहू पर ससुरालियों ने ऐसा दुलार लुटाया कि बसपा का तो एक बूथ पर खाता ही नहीं खुल सका जबकि भाजपा के जयवीर तो यहां चार बूथों में से तीन पर दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।

By Sharvan Kumar Sharma Edited By: Abhishek Saxena Sun, 09 Jun 2024 08:00 AM (IST)
Lok Sabha Chunav: सैफई ने भरी बहू की झाेली, भाजपा वोट को तरसी

श्रवण शर्मा, मैनपुरी. जागरण। राजनीति के धुरंधर खिलाड़ी भी इस बार के लोकसभा चुनाव में चारों खाने चित हुए हैं। मैनपुरी संसदीय सीट में शामिल सपा सुप्रीमाे अखिलेश यादव के गांव सैफई में न तो कमल खिल सका न हाथी की चिंघाड़ निकल सकी।

इटावा जनपद की जसवंतनगर विधानसभा मैनपुरी संसदीय सीट में शामिल है, इसी विधानसभा में सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव का गांव सैफई भी शामिल है। सपा प्रत्याशी डिंपल यादव की इसी गांव में ससुराल भी है।

इस बार के लोकसभा चुनाव में भाजपा ने राजनीति के खिलाड़ी- प्रदेश सरकार के पर्यटन मंत्री जयवीर सिंह और बसपा ने औरेया के पूर्व विधायक शिवप्रसाद यादव को मैदान में उतारा था। चुनाव शुरू होते ही भाजपा और बसपा के प्रत्याशियों ने बड़े- बड़े दावे किए थे। अब मतगणना के बाद जारी हुए बूथवार आंकड़े इन दावों की हवा निकाल रहे हैं।

सैफई के चार बूथों पर भाजपा और बसपा प्रत्याशियों की बड़ी हार

सैफई के चार बूथों पर भाजपा और बसपा प्रत्याशियों की बड़ी हार सामने आई है। सैफई के उच्च प्राथमिक विद्यालय अभिनव में सात मई को चार बूथों पर 4081 मतदाताओं में से 2714 ने वोट डाले थे। चार जून को खुली ईवीएम में से 2671 वोट तो अकेले ही डिंपल यादव ले गई, जबकि जयवीर सिंह को मात्र 21 और शिवप्रसाद को केवल 12 वोट ही मिल सके। सैफई के तीन बूथों पर भाजपा दहाई में सिमट गई, जबकि बसपा तीन बूथों पर दहाई में अटकी और एक पर खाता ही नहीं खोल पाई। कुछ वोट निर्दलियों को मिल गए।

ये भी पढ़ेंः Modi 3.0: मोदी के तीसरे मंत्रिमंडल में घटेगी यूपी की हिस्सेदारी, एनडीए में इन नेताओं काे बनाया जा सकता है मंत्री!

20 बूथ पर जयवीर दहाई में सिमटे

जसवंत नगर विधानसभा में इस बार उपचुनाव 2022 के मुकाबले बेहतर और 2019 के मुकाबले कमजोर रही भाजपा के जयवीर सिंह यहां के 20 बूथों पर तो दहाई तक ही नहीं पहुंच सकके। नगला लायक में नौ, शाहजहांपुर में आठ, अनियां में तीन, महोला में नौ, सिंगपुर के दो बूथों पर छह- छह, उद्यमपुर में तीन, ईखरपुर में आठ, गुवरिहा में दो, फर्दपुरा में आठ, चौबिया में पांच, टिसुआदेव में पांच, बेलाहार में नौ, अधीनी में नौ, कांकरपुर में पांच राहिन में नौ, नगला जिंद में तीन, नगला भांवर में सात, दौलतपुर में छह और नगला जलाल में जयवीर सिंह को केवल आठ ही वोट मिल सके।

ये भी पढ़ेंः UP News: चुनाव खत्म होते ही एक्शन में योगी सरकार; दे दिए पूरी टीम को ये निर्देश, अब खिल उठेंगे युवाओं के चेहरे

18 बूथों पर बसपा का नहीं खुला खाता

जसवंत नगर विधानसभा के डेढ़ दर्जन ऐसे बूथ हैं,जहां बसपा प्रत्याशी का खाता तक नहीं खुल सका। इन बूथों में धरवार, नगला हरे, पिपरेंदी, नगला ताल, नगला विशुन, अडूपुरा, कीरतपुर, महोला, लखनपुर पचार, लक्षवाई, बेर, नंदपुर, सवरपुर, खिरिया, गुवरिहा, पचार, टकपुरा शामिल हैं, जबकि 73 बूथों पर बसपा प्रत्याशी दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके।