Move to Jagran APP

UPSC Result 2023: ऐश्वर्यम ने दूसरे प्रयास में हासिल की 10वीं रैंक, खुशी पर झूमा परिवार, विशाखापट्टनम में इंजीनियर हैं अभी

UPSC Result 2023 महराजगंज जिले के बहदुरी के टोला मंझरिया की रहने वाली ऐश्वर्यम प्रजापति ने यूपीएससी की परीक्षा में 10वां रैंक लाकर क्षेत्र का नाम रोशन किया हैं। फरेंदा क्षेत्र की बेटी की सफलता पर लोग खुशी का इजहार कर रहे हैं। दूसरे प्रयास में उन्हें दसवीं रैंक मिली है। उन्होंने अपनी सफलता का श्रेय माता−पिता और गुरुजनों को दिया है।

By Neeraj Neeraj Srivastava Edited By: Abhishek Saxena Published: Tue, 16 Apr 2024 08:33 PM (IST)Updated: Tue, 16 Apr 2024 08:33 PM (IST)
ऐश्वर्यम ने दूसरे प्रयास में हासिल की 10वीं रैंक, खुशी पर झूमा परिवार

जागरण संवाददाता, आनंदनगर। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा परिणाम मंगलवार को घोषित किया गया है। सिविल सर्विसेज परीक्षा में महराजगंज जिले के बहदुरी के टोला मंझरिया निवासी ऐश्वर्यम प्रजापति ने भी परचम फहराया है। उन्होंने परीक्षा में 10 वीं रैंक लाकर जिले का नाम रोशन किया हैं। क्षेत्र की बेटी की सफलता पर लोगों में खुशी की लहर है। स्वजन और शुभचिंतकों ने मैनहवा चौराहे पर एक-दूसरे को मिठाई खिलाकर खुशी व्यक्त की।

इंजीनियर कार्यरत हैं ऐश्वर्यम

कोल्हुई क्षेत्र के डा. रामकोमल प्रजापति की बेटी ऐश्वर्यम प्रजापति की प्रारंभिक शिक्षा लखनऊ के रानी लक्ष्मीबाई मेमोरियल सीनियर सेकेंडरी में हुई। बीटेक उत्तराखंड से करने के बाद वर्तमान में वह विशाखापट्टनम एलएनटी में बतौर इंजीनियर कार्यरत हैं। नौकरी के साथ सिविल सर्विसेज की तैयारी में जुटी रहीं। उन्होंने दूसरे प्रयास में यह सफलता हासिल किया तो लोग खुशी से झूम उठे।

Read Also: UPSC Result: हार नहीं मानी, दारोगा की बेटी रूपल राणा ने UPSC में पाया 26वां स्थान, डीयू टॉपर ने तीसरे प्रयास में पाई कामयाबी

सफलता का श्रेय माता−पिता और गुरुजनों को दिया

ऐश्वर्यम प्रजापति ने सफलता का श्रेय माता-पिता के साथ गुरुजनों को दिया हैं। उन्होंने कहा कि लक्ष्य निर्धारित कर कोई भी सफलता प्राप्त की जा सकती है। उन्हें प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे प्रतिभागियों से एकाग्र होकर पढ़ने की सलाह दी। ऐश्वर्यम के पिता लखनऊ विश्वविद्यालय में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं। माता उर्मिला देवी गृहणी हैं। 

Read Also: UPSC Success Story: IAS बनकर देश और समाज की सेवा करना चाहती हैं वृंदावन की सुरम्या शर्मा, बोलीं- 'अभी और करनी है मेहनत'

उनकी सफलता पर बाबा केदार प्रजापति, मामा डा. महेश प्रजापति, अधिवक्ता दिनेश प्रजापति, प्रेम सिंह, सुधेश मोहन श्रीवास्तव, सुरेंद्र पांडेय, सत्येंद्र सिंह, शैलेंद्र श्रीवास्तव, राजू गुप्ता, उमेश चंद भट्ट, हरिनायण आजाद, डा. शिवनरायन सिंह, महेंद्र प्रजापति ने खुशी व्यक्त की है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.