लखनऊ (जेएनएन)। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार गरीब परिवारों के लिए भाग्यलक्ष्मी योजना का शुभारंभ करने जा रही है। इस योजना के तहत केंद्र की बेटी पढ़ाओ, बेटी बढ़ाओ योजना को भी प्रोत्साहन मिलेगा। भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत बेटी पैदा होने पर परिवार को 50 हजार रुपये का बांड दिया जाएगा। इतना ही नहीं मां को भी 5100 रुपए दिए जाएंगे।

उत्तर प्रदेश में घर में बेटी के जन्म लेने की दशा में सरकार परिवार को उसके नाम का 50 हजार का बांड देगी। इसके साथ ही 5100 रुपया नकद दिया जाएगा। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार प्रदेश में कन्या भ्रूण हत्या को रोकने और 'बेटी पढ़ाओ बेटी बढ़ाओ योजना' को प्रोत्साहित करने के लिए ठोस कदम उठाने जा रही है।

यह भी पढ़ें: योगी का फरमानः मंत्री-अधिकारी करें गड्ढामुक्त सड़कों का सत्यापन

योगी सरकार गरीब परिवारों के लिए भाग्यलक्ष्मी योजना का शुभारंभ करने जा रही है। अब जिसके तहत बेटी पैदा होने पर परिवार को 50 हजार रुपये का बांड दिया जाएगा। प्रसूता को को भी 5100 रुपए दिए जाएंगे।

इस योजना के तहत जैसे-जैसे बेटियां बड़ी होंगी, उनको पढ़ाई में भी आर्थिक सहयोग सरकार की तरफ से मिलेगा। योजना के तहत कक्षा 6 में पहुंचने पर बेटियों को 3 हजार, कक्षा 8 में 5 हजार रुपए मिलेंगे। बेटियों के हाईस्कूल में पहुंचने पर उन्हें 7 हजार और इंटर में आने पर बेटियों को 8 हजार रुपए मिलेंगे।

यह भी पढ़ें:  छुट्टी निरस्त होने के बाद इंटरनेट पर खोजे जा रहे भगवान परशुराम

इतना ही नहीं बेटी की आयु 21 वर्ष होने पर अभिभावक को शादी और उच्च शिक्षा के लिए सरकार की तरफ से दो लाख रुपए की आर्थिक सहायता मिलेगी। योगी सरकार भाग्यलक्ष्मी योजना को लेकर अन्य विकल्पों पर भी विचार कर रही है।

यह भी पढ़ें: परशुराम के आदर्शों से सामाजिक न्याय स्थापना की प्रेरणा ले समाज: योगी

इस योजना का लाभ बीपीएल परिवारों को मिलेगा। इसके अलावा जिनकी सालाना आय 2 लाख रुपये हैं उन्हें भी इस योजना का लाभ देने की तैयारी है। इस संबंध में सरकार  प्रस्ताव को जल्द ही कैबिनेट में लाने की तैयारी कर रही है।

यह भी पढ़ें: 'योगी हेयर स्टाइल' अनिवार्य करने पर मेरठ के स्कूल में भड़के अभिभावक

Edited By: Dharmendra Pandey