लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार असंगठित क्षेत्र के पंजीकृत मजदूरों को 1000-1000 रुपये की दो किस्तों में भरण पोषण भत्ता देगी। श्रम विभाग ने इस बारे में शासनादेश जारी कर दिया है। भत्ते की यह राशि असंगठित क्षेत्र के उन सभी मजदूरों को मिलेगी जो 31 दिसंबर तक उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में पंजीकृत होंगे। दो माह के लिए मजदूरों को भत्ते की पहली किस्त के तौर पर एक हजार रुपये जनवरी में देने की तैयारी की जा रही है। यह राशि उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड के माध्यम से दी जाएगी।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने विधानमंडल के शीतकालीन सत्र के दौरान पेश किये गए चालू वित्तीय वर्ष के दूसरे अनुपूरक बजट में असंगठित क्षेत्र के मजदूरों को 2000 रुपये भरण-पोषण भत्ता देने के लिए 4000 करोड़ रुपये की व्यवस्था की है। उत्तर प्रदेश असंगठित कर्मकार सामाजिक सुरक्षा बोर्ड में अब तक लगभग 2.5 करोड़ मजदूर पंजीकृत हो चुके हैं। मजदूरों के बैंक खातों में यह रकम सीधे भेजी जाएगी।

शासनादेश के जरिये बोर्ड के सचिव को लाभान्वित होने वाले मजदूरों को आधार से लिंक करने का निर्देश दिया गया है। जिन असंगठित कामगारों को बोर्ड की ओर से किसान सम्मान निधि या अन्य किसी माध्यम से भरण-पोषण भत्ता दिया जा रहा है, उन्हें कोई धनराशि नहीं दी जाएगी। राज्य सरकार की कोशिश है कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावना को देखते हुए भरण-पोषण भत्ता वितरण के लिए आवश्यक कार्यवाही जल्दी पूरी करने के लिए कहा गया है।

यह भी पढ़ें : फ्री स्मार्ट फोन व टैबलेट के इंतजार की घड़ियां खत्म, सीएम योगी 25 दिसंबर को देंगे युवाओं को उपहार

Edited By: Umesh Tiwari