Move to Jagran APP

UP News: शिक्षकों के ऑनलाइन उपस्थिति का आदेश बरकरार, विरोध के बीच बेसिक शिक्षा विभाग ने दिया तर्क

परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों ने ऑनलाइन उपस्थिति का मंगलवार को भी बहिष्कार के बाद मीडिया में यह खबर आई ‘योगी सरकार ने ऑनलाइन उपस्थिति का फैसला वापस ले लिया है’। हालांकि इस विषय में प्रमुख सचिव बेसिक शिक्षा एमकेएस सुंदरम ने शिक्षकों से अपील की है कि वह ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज कराएं। मतलब शिक्षकों को ऑनलाइन उपस्थिति लगानी ही होगी।

By Jagran News Edited By: Shivam Yadav Tue, 09 Jul 2024 11:23 PM (IST)
उच्च प्राथमिक विद्यालय लालपालपुर में काली पट्टी बांधकर विरोध जताते शिक्षक। जागरण

राज्य ब्यूरो, लखनऊ। परिषदीय स्कूलों में शिक्षकों ने ऑनलाइन उपस्थिति का मंगलवार को भी बहिष्कार किया। काली पट्टी बांधकर शिक्षकों ने कक्षाएं ली और मांग की कि पहले उनकी समस्याओं का समाधान किया जाए फिर इसे लागू किया जाए। 

शिक्षक अर्द्ध अवकाश दिए जाने, तीन दिन लगातार देरी होने पर एक आकस्मिक अवकाश दिए जाने और अर्जित अवकाश भी दिए जाने की मांग कर रहे हैं। दूर-दराज के क्षेत्रों में स्कूल पहुंचने में होने वाली कठिनाई को भी वह गिना रहे हैं।

बेसिक शिक्षा का तर्क

शिक्षकों के विरोध के बीच प्रमुख सचिव, बेसिक शिक्षा एमकेएस सुंदरम की ओर से शिक्षकों से अपील की गई है कि वह ऑनलाइन उपस्थिति दर्ज कराएं, क्योंकि अब आधे घंटे का उन्हें अतिरिक्त समय दिया गया है। 

विद्यालय एक या दो घंटे देर से आने से विद्यार्थियों की पहली दो कक्षाएं ढंग से संचालित नहीं हो पाती। विद्यार्थियों का हित सर्वोपरि है। ऐसे में स्कूली बच्चों की बेहतरी के लिए उन असुविधाओं को सहन करने की जरूरत है।

शिक्षक संघ ने कहा…

उत्तर प्रदेश बीटीसी शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल यादव का कहना है कि शिक्षकों के ऊपर जबरन इस व्यवस्था को थोपा जा रहा है। उनकी कोई मांग नहीं मानी जा रही। ऐसे में ऑनलाइन हाजिरी लगाना संभव नहीं है।

यह भी पढ़ें: यूपी में शिक्षकों के बाद अब छात्रों की अटेंडेंस के बदले नियम, शिक्षा विभाग ने जारी किए ये निर्देश

यह भी पढ़ें: एक इंस्पेक्टर, 3 दारोगा, 4 दीवान… इस जिले में एसएसपी ने खास काम के लिए बनाई खास टीम, पूरे महीने रहेगी ड्यूटी