लखनऊ (जेएनएन)। चारबाग स्टेशन और लखनऊ जंक्शन के बाद अब ऐशबाग शहर का सबसे व्यस्तम स्टेशन होगा। इस स्टेशन पर 13 नवंबर से चार जोड़ी महत्वपूर्ण ट्रेनों का ठहराव होगा। जबकि अगले ही महीने से ऐशबाग-सीतापुर रेलखंड के शुरू होते ही पांच जोड़ी ट्रेनें और यहां से चलने लगेंगी। यात्रियों की सुविधा के लिए जहां रेलवे ने ऐशबाग स्टेशन पर तैयारियां पूरी कर ली है। वहीं, दूसरी ओर ऐशबाग स्टेशन तक एप्रोच रोड को लेकर उनको दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है। 

ऐशबाग स्टेशन तक पहुंचने के लिए राजेंद्रनगर और मवैया होकर रास्ता जाता है। राजेंद्रनगर से अग्रसेन इंटर कॉलेज का रास्ता तो कुछ ठीक है, लेकिन मवैया होकर यात्रियों को पुल के पास जाम में फंसना पड़ेगा। फिलहाल यहां यातायात सुधारने के लिए कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं। ऐशबाग स्टेशन पर दोनो तरफ यात्रियों के प्रवेश और निकास की सुविधा होगी। अभी मेन बिल्डिंग बनकर तैयार हो गई है। जबकि सेकेंड एंट्री का काम चल रहा है। ऐशबाग स्टेशन से चारबाग की ओर से जाने वाली अप व डाउन दिशा की  कुशीनगर एक्सप्रेस, आम्रपाली एक्सप्रेस, बिहारसंपर्कक्रांति एक्सप्रेस और वैशाली सुपरफास्ट एक्सप्रेस का संचालन होगा। वहीं ऐशबाग सीतापुर रूट की ट्रेनें चलने से यहां पर रोजाना सफर करने वाले यात्रियों की संख्या 25 से 30 हजार के बीच होगी। इतनी बड़ी संख्या में यात्रियों के आवागमन को देखते हुए सुरक्षा के भी व्यापक इंतजाम होंगे। आरपीएफ यहां चौकी को थाना के रूप में अपग्रेड करने की तैयारी कर रहा है। 

एसी लाउंज में बैठेंगे यात्री

ऐशबाग स्टेशन पर यात्रियों के लिए आरामदायक एसी लाउंज बनाया गया है। इसके अलावा आरक्षण केंद्र, जनरल टिकट काउंटर, यात्री प्रतीक्षालय, दो एसी और दो नॉन एसी श्रेणी के विश्रामालय, जनरल टिकट बेचने के लिए दो यूटीएस काउंटर और आटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन, वाहनों की पार्किंग, दो रैंप के साथ पैदल पुल और एटीएम की सुविधा भी ऐशबाग स्टेशन पर होगी। 

 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021