लखनऊ, जागरण संवाददाता। बाराबिरवा चौराहे पर शुक्रवार रात युवती द्वारा कार चालक शहादत अली की पिटाई के मामले में सोमवार सुबह तीसरा वीडियो सामने आने से नया मोड़ आया है। जिसमें कार चालक सआदत अली बेगुनाह दिख रहा है। सारी गलती युवती की दिख रही है। कानपुर रोड की तरफ से आ रहे चालक की वैगनआर कार के सामने सड़क पार कर रही युवती एकाएक खुद खड़ी हो गई। उसे कार की टक्कर भी नहीं ली। इसके बाद भी वह चालक के पास पहुंची। उसका मोबाइल छीनकर सड़क पर पटककर तोड़ दिया।

इतना ही नहीं उसे कार से बाहर निकाला और बेगुनाह सआदत अली को पीटने लगी। वह उछल-उछलकर चौराहे पर सआदत अली पर तमाचे पर तमाचे बरसाए जा रही थी। वह बेचारा चुपचाप उसका जुर्म बर्दाश्त करता जा रहा है। चौराहे पर जाम लग गया। यातायात का आवागमन बाधित हो गया। करीब 15 मिनट तक युवती सआदत अली को पीटती रही। चौराहे पर तैनात ट्रैफिक पुलिस कर्मी भी युवती के चंगुल से सआदत अली को छुड़ाने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे थे। वहीं, चौराहे पर खड़े राहगीर युवती द्वारा सआदत अली की पिटाई का वीडियो मोबाइल पर बनाते रहे। बचाव में सआदत अली के भाई दाउद और इनायत अली पहुंचे। तो युवती ने उन्हें भी पीटा। बवाल की सूचना पर कृष्णानगर पुलिस पहुंची। पुलिस ने भी बेगुनाह सआदतअली और उसके भाइयों के खिलाफ शांति भंग की कार्यवाही की और युवती को बेगुनाह बताकर छोड़ दिया।

वैगनआर कार और एक्सयूवी में पुलिस का खेल: मामला कृष्णानगर कोतवाली पहुंचा तो पुलिस ने सआदत अली और उसके भाइयों के खिलाफ शांति भंग की कार्यवाई की। शनिवार रात युवक की पिटाई का वीडियो वायरल हुआ पुलिस से पूछताछ हुई तो इंस्पेक्टर ने जो डिटेल जारी की उसमे सआदत अली को एक्सयूवी का चालक बताया। पुलिस ने बिना मामले की पड़ताल के कहा कि एक्सयूवी की टक्कर लगने पर युवती ने चालक को पीटा था उस आधार पर कार्यवाई की गई। सोमवार को जब तीसरा वीडियो सोशल मीडिया पर चल तो सामने आया कि सआदत अली एक्सयूवी से नहीं वैगनआर कार से था। वीडियो जारी होते ही इंस्पेक्टर का बयान झूठा हो गया। एक्सयूवी एसडीएम एटा सदर की बताई जा रही थी। इंस्पेक्टर ने पूरे मामले में खेल किया।

 

यह भी पढ़ें: Video: लखनऊ में बीच चौराहे पर हाइवोल्‍टेज ड्रामा, युवती ने कार चालक को जड़े तमाचे पे तमाचे

इंस्पेक्टर ने पहले किया खेल अब बोले युवती की गलती ज्यादा: इंस्पेक्टर कृष्णानगर महेश दुबे ने बताया की युवती के खिलाफ 107/16 की कार्यवाई की गई है। वीडियो में युवती की गलती अधिक दिख रही है। अगर कोई पक्ष तहरीर देगा तो मामले में कार्यवाई की जाएगी। इंपेक्टर ने बताया कि घटना के समय वह ईको गार्डेन में ड्यूटी पर थे। ट्रैफिक पुलिस की सूचना पर उन्होंने पुलिस को भेज था। वहां से युवती, सआदत अली और अन्य लीगों को थाने लाया गया था। एक एक्सयूवी और वैगनआर आयी थी। किसी गाड़ी पर कार्यवाई नहीं की गई। युवती के आरोप पर सआदत अली और उसके भाइयों के खिलाफ शांति भंग और युवती के खिलाफ बाद में 107/16 की कार्यवाई की गई। सआदत अली और उसके भाई किस गाड़ी से थे मुझे नहीं पता।

Edited By: Rafiya Naz