मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कुशीनगर : जिले में दो दिनों से हो रही मूसलाधार बारिश से इलाका पानी-पानी हो गया है। बीते सप्ताह कड़ी धूप व उमस भरी गर्मी से लोगों को राहत तो मिल गई, लेकिन नगरीय समेत ग्रामीण इलाकों में जलभराव से दिक्कत खड़ी हो गई है। प्रमुख मार्गों पर पानी भर जाने से नाले का रूप ले लिए हैं तो कच्चे रास्तों से आवागमन मुश्किल हो गया है। मंगलवार को जागरण टीम ने जिला मुख्यालय पर स्थित सरकारी कार्यालयों का जायजा लिया तो अधिकतर जगह जलभराव दिखा। कलेक्टेट व पुलिस अधीक्षक कार्यालय गेट से लेकर परिसर में बारिश का पानी इकट्ठा दिखा। इससे जलनिकासी व्यवस्था की पोल भी खुल रही। अभी बरसात के शुरुआती दिनों में यह नजारा है तो आगे का अंदाजा भी लगाया जा सकता है। पडरौना नगर के कठकुइयां रोड पर घुटने तक भरा पानी आवागमन में मुश्किल खड़ा कर रहा। तिलकनगर, ओंकारवाटिका कालोनी व मुन्ना कालोनी में भी बारिश का पानी जमा हो रहा। अगर लगातार बारिश होती रही तो लोगों के घरों में भी पानी घुस सकता है।

---

नाला बन गए कप्तानगंज व घुघली मार्ग

सिगहा, कुशीनगर : सोमवार से शुरू हुई बारिश मंगलवार को दिन में भी रुक-रुक कर होती रही। जिससे जनजीवन अस्त-व्यस्त रहा। सड़कों पर पानी की धार ऐसे बह रही है मानो नाला बह रहा है। जल निकासी को लेकर लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा। सबसे खराब हाल नौरंगिया-घुघली व नौरंगिया-कप्तानगंज मार्ग का है। जगह-जगह जलभराव से सड़क क्षतिग्रस्त हो रही तो गड्ढों में गिरकर राहगीर चोटिल हो रहे हैं। स्कूल आने-जाने वाले छात्र-छात्राओं को कठिनाई का सामना करना पड़ रहा। दोपहिया चालकों को और परेशान हो रही है। नौरंगिया-कप्तानगंज मार्ग पकड़ियार गांव के सामने नाला में तब्दील हो गया है। नौरंगिया-घुघली मार्ग पर कोटवा मोड़ से ब्लाक मुख्यालय तक जाने वाली सड़क पर बीते जनवरी में ठेकेदार द्वारा गिट्टी डाल कर छोड़ दिया गया है। बारिश के कारण सड़क सिरसिया और कोटवा बाजार में सड़क नाला बन चुकी है। पकड़ियार-कौआसार मार्ग पर पकड़ियार चौराहे से करीब डेढ़ किमी तक सड़क पर दो फुट पानी बह रहा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप