जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : क्रोमियम कचरे की वजह से दूषित भूजल का दंश झेल रहे खानचंद्रपुर वासियों के लिए राहत की खबर है। यहां के लिए बनाई गई 2.98 करोड़ रुपये की पेयजल पुनर्गठन योजना को वित्तीय मंजूरी देकर शासन ने लागत का आधा बजट जारी कर दिया है। जल निगम ने टेंडर प्रक्रिया शुरू की है और जनवरी के अंत तक काम शुरू होने की उम्मीद है।

अकबरपुर तहसील के खानचंद्रपुर में छह फैक्ट्रियों का 62 हजार मीट्रिक टन क्रोमियम डंप है। क्रोमियम कचरा भूजल को दूषित कर रहा है और खानचंद्रपुर व मजरे नोनियनपुरवा व प्रसिद्धपुर की तीन हजार आबादी मुश्किल में है और कई लोग बीमारियों की चपेट में आ गए हैं। पेयजल पुनर्गठन योजना दो जोन में बनाई जानी है। यहां नया नलकूप व 50 किली क्षमता की छोटी टंकी निर्माण प्रस्तावित है। प्रसिद्धपुर में नलकूप की गहराई डेढ़ सौ मीटर होगी वहीं चौहानपुरवा में नलकूप दो सौ मीटर गहरा बनेगा। दोनों नलकूप का निर्माण विद्युत यांत्रिक इकाई ने 78 लाख रुपये में कराने का प्रस्ताव दिया था। लागत कम करने को लेकर नलकूपों की चारदीवारी व पुरानी मेन राइजिग पाइप लाइन पुनर्गठन योजना में उपयोग शामिल किया गया। खानचंद्रपुर की पुरानी टंकी पुनर्गठन योजना में शामिल रहेगी। पूर्व में 3.38 करोड़ रुपये का प्रस्ताव भेजा गया था जिसे बाद में घटाकर 2.98 करोड़ रुपये कर दिया गया। नवंबर के पहले पखवाड़े में जलनिगम ने प्रस्ताव तकनीकी स्वीकृति के बाद वित्तीय मंजूरी के लिए शासन को भेजा था। संशोधित प्रस्ताव को शासन ने मंजूरी दी है।

....

पेयजल पुनर्गठन योजना के संशोधित प्रस्ताव को शासन की वित्तीय मंजूरी मिल गई है। योजना लागत की आधी धनराशि भी जारी हो गई है। इसका पत्र भी मिल गया है। अब टेंडर प्रक्रिया शुरू की गई है। 18 जनवरी को टेंडर खुलेंगे जिसमें कार्यदायी कंपनी तय होगा। इसी माह काम शुरू होने की उम्मीद है।

एमके सिंह, अधिशासी अभियंता जल निगम कानपुर देहात

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस