Move to Jagran APP

कानपुर : जीटी रोड चौड़ीकरण में बाधा बन रहे धार्मिक स्थल को हटाया, दो माह से चल रहा था प्रयास

जीटी रोड चौड़ीकरण में कानपुर के चौबेपुर में बाधा बने धार्मिक स्थल को हटा दिया गया। दो माह पहले हटाने के प्रयास के दौरान कुछ लोगों विरोध करते हुए हंगामा किया था। इस बार प्रयास में शांतिपूर्वक तरीके से उसे हटा दिया गया है।

By Abhishek AgnihotriEdited By: Published: Wed, 14 Sep 2022 03:57 PM (IST)Updated: Wed, 14 Sep 2022 03:57 PM (IST)
कानपुर के चौबेपुर में हटाया धार्मिक स्थल।

कानपुर, जागरण संवाददाता। अलीगढ़ से कानपुर तक जीटी रोड चौड़ीकरण में चौबेपुर और शिवराजपुर के बीच  बाधा बने धार्मिक स्थल को बुधवार पुलिस और प्रशासन ने हटवा दिया। धार्मिक स्थल बीच में होने के कारण हाईवे का डायवर्जन बाधित हो रहा था।

अलीगढ़ से कानपुर के बीच निर्माणाधीन राजमार्ग सिक्स लेन बनाने का कार्य तेजी से कराया जा रहा है। एनएचएआई को अक्टूबर 2023 तक निमार्ण पूरा करना है। निर्माण में चौबेपुर और शिवराजपुर के बीच में मरियानी गांव के पास धार्मिक स्थल बाधा बन रहा था। उसे हटाने को लेकर प्रशासन दो माह से प्रयास कर रहा था लेकिन संबंधित समुदाय के लोग विरोध कर रहे थे। 

बुधवार को बिल्हौर एसडीएम अलका लांबा की अगुवाई में धार्मिक स्थल के संरक्षक को बुलाया गया। इसके बाद शांतिपूर्ण ढंग से धार्मिक स्थल को हटवाया गया। इस दौरान भारी पुलिस बल मौजूद रहा। एसडीएम ने बताया कि धार्मिक स्थल हटाने को लेकर किसी भी तरह से कानून व्यवस्था नहीं बिगड़ी है और मौके पर शांति व्यवस्था बनी हुई है।

धार्मिक स्थल हटाने को लेकर हुआ था हंगामा

दो माह पहले एनएचआइ द्वारा धार्मिक स्थल हटाने का प्रयास करने के दौरान एक समुदाय के लोगों ने हंगामा किया था। इसके बाद जीटी रोड चौड़ीकरण का कार्य रोक दिया गया था। स्थानीय लोगों के मुताबिक धार्मिक स्थल करीब पचास साल बने बना था। इस बार प्रशासन ने बैठक करके पहले से तैयारी कर ली थी। एएसपी आउटर विजेंद्र द्विवेदी व एसडीएम अलका लांबा ने संरक्षक से बैठक कर धार्मिक स्थल हटाने को का समाधान निकाल लिया।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.