कानपुर (जेएनएन)। बांदा के तिंदवारी से भाजपा विधायक एवं उनके सहयोगियों ने मंगलवार रात सर्किट हाउस में खनन अधिकारी को बंधक बनाकर लात-घूंसों से पीट दिया। किसी तरह बचकर भागे खनन अधिकारी ने डीएम से सुरक्षा की गुहार लगाई। जिलाधिकारी के आदेश पर खनन अधिकारी ने विधायक समेत दो नामजद और छह अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया है। आरोप है कि विधायक ने क्षेत्र में प्रति पट्टा 25 लाख रुपये की मांग की है। वहीं विधायक ने आरोपों को बेबुनियाद बताया है और साइकिल से मौरंग ले जाने वालों को थाने में बंद कराने पर खनन अधिकारी को मना करने की बात कही है।
बुंदेलखंड में मौरंग खनन की प्रक्रिया शुरू होते ही माफिया भी सक्रिय हो गए हैं और अपना दबदबा बनाने का सिलसिला शुरू कर दिया है। मंगलवार को भाजपा तिंदवारी विधायक बृजेश प्रजापति ने जिले के खनन अधिकारी को बातचीत करने के लिए सर्किट हाउस बुलाया था।
खनन अधिकारी का आरोप है कि विधायक और उनके सहयोगियों ने उनकी लात घूसों से जमकर पिटाई कर दी। विधायक ने क्षेत्र में चल रहे सभी खनन पट्टों से 25-25 लाख रुपये की मांग की थी। इनकार करने पर विवाद बढ़ गया और मारपीट की। घटना के बाद बुधवार को सरकारी कार्यालयों में कर्मचारी भी विधायक के खिलाफ लामबंद दिखे।
रात में ही खनन अधिकारी ने जिलाधिकारी हीरालाल को घटना की जानकारी देकर कार्रवाई की गुहार लगाई थी। जिलाधिकारी ने तत्काल मामले से एसपी को अवगत कराते हुए कार्रवाई करने के लिए कहा था। अफसरों के आदेश पर थाना पुलिस ने खनन अधिकारी की तहरीर पर रात में ही विधायक बृजेश प्रजापति, उनके सहयोगी नीरज पटेल सहित छह अज्ञात लोगों के विरुद्ध विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया।
इनका कहना है
-खनन अधिकारी से मारपीट के मामले में विधायक व उनके सहयोगियों के खिलाफ मुकदमा लिखा गया है। मामले की छानबीन गहनता से कराई जा रही है। सुरक्षा के लिए भी पुलिस को निर्देश दिए गए हैं। -एस. आनंद, एसपी  बांदा
-खनन अधिकारी ने साइकिल से बालू ढोने वाले कुछ गरीबों को थाने में बंद करा दिया था। उन्हें ऐसा करने से मना किया था, इसपर खनन अधिकारी ने निराधार आरोप लगाए हैं। -बृजेश प्रजापति, भाजपा विधायक तिंदवारी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस