गोरखपुर, जेएनएन। एक्सप्रेस के रूप में पैसेंजर ट्रेनों को चलाने से पहले यात्री सुविधाओं को लेकर रेलवे ने अपनी तैयारी तेज कर दी है। गोरखपुर जंक्शन पर पूर्वोत्तर रेलवे का सबसे बड़ा वेटिंग हाल तैयार है। गर्मी में राहत के लिए पहले से ही दो महापंखे लगा दिए गए हैं। वेटिंग हाल में ही यात्रियों को ट्रेनों की अपडेट जानकारी मिलती रहेगी।

सात मार्च को गोरखपुर से सिवान के लिए पहली पैसेंजर ट्रेन रवाना होगी। ऐसे में इस दिन सुबह से जनरल काउंटर खोल दिए जाएंगे। फिलहाल, अनरिजर्वड टिकट सिस्टम (यूटीएस) को दुरुस्त करने तथा सिस्टम को सेंटर फार रेलवे इंफार्मेशन सिस्टम (क्रिस) से जोडऩे की प्रक्रिया शुरू हो गई है।

यात्री काउंटर के अलावा मोबाइल यूटीएस एप से भी टिकट बुक कर सकेंगे। स्टेशन से बाहर एप के माध्यम से तथा अंदर क्यूआर कोड के जरिये जनरल टिकटों की बुकिंग होगी। जनरल टिकट काउंटरों के आसपास व अन्य गेटों पर क्यूआर कोड चस्पा किए जा रहे हैं। हालांकि प्लेटफार्मों पर जगह-जगह स्थापित आटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन (एटीवीएम) और स्टेशन से बाहर प्राइवेट जनरल टिकट बुकिंग सेवक (जेटीबीएस) से टिकटों की बुकिंग नहीं होगी। प्लेटफार्म टिकटों की बुकिंग भी अभी ठंडे बस्ते में ही है। यहां जान लें कि  विभिन्न रूटों पर मंडलवार शटल पैसेंजर ट्रेनों (सुबह चलकर रात तक वापस आने वाली) को संचालित करने की योजना बनाई गई है। रेलवे बोर्ड ने पूर्वोत्तर रेलवे की 32 सवारी गाडिय़ों एक्सप्रेस बनाकर चलाने की अनुमति दी है। यात्रियों को पैसेंजर ट्रेनों में चलने के बाद भी एक्सप्रेस का किराया देना पड़ेगा।

19 स्टेशनों पर मिलेगी क्यूआर कोड की सुविधा

यात्री मोबाइल यूटीएस एप के अलावा स्टेशन पहुंचकर क्यूआर कोड स्कैन कर जनरल टिकट बुक कर सकेंगे। गोरखपुर, लखनऊ जंक्शन, लखनऊ सिटी, बादशाहनगर, ऐशबाग, तुलसीपुर, सीतापुर, नौगढ़, नौतनवां, मनकापुर, मैलानी, लखीमपुर, खलीलाबाद, गोला गोकरननाथ, गोंडा, आनंदनगर, बस्ती, बहराइच और बढऩी सहित 19 स्टेशनों पर गेट से लगायत टिकट काउंटरों तक स्कैन क्यूआर कोड चस्पा किए जा रहे हैं।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021