Move to Jagran APP

'बुलडोजर तैयार है टीम जाएगी, खाते में भेज दो खर्चा', अब इस जुगाड़ से लोगों को ठग रहे हैं जालसाज

एसपी क्राइम सुधीर जायसवाल ने कहा कि इंटरनेट मीडिया के माध्यम से शिकायत करने वालों का फोन नंबर जालसाज पा जा रहे हैं। इसके अलावा जनसेवा केंद्र व आनलाइन सर्वे से भी लोगों का नंबर उनके तक पहुंच जा रहा है। इसके बाद वह फोन कर नए-नए तरीके से ठगी की बात कर रहे हैं। अब जालसाजों ने नया तरीका निकाला है।

By Jitendra Pandey Edited By: Vivek Shukla Sat, 11 May 2024 08:47 AM (IST)
जालसाल बुलडोजर की धमकी दे रहे हैं। जागरण

जागरण संवाददाता, गोरखपुर। जालसाजों ने ठगी का नया तरीका अपना लिया है। अब वह पुलिस कार्यालय का नाम लेकर फरियादियों के पास फोन कर कह रहे। बोल रहे समस्या का निस्तारण करने के लिए एसओजी टीम गठित कर दी गई है।

बुलडोजर तैयार है, जरूरत पड़ने पर उसके घर पर चलेगा। इसके लिए 25-40 हजार रुपये खर्चा आएगा। खाते में भेज दों। गगहा क्षेत्र के रहने वाले अरविंद और कोतवाली क्षेत्र घंश्याम पाण्डेय सामने चार लोगों के पास इस तरह के फोन आ चुके है। सभी ने साइबर सेल में शिकायत की है।

इसे भी पढ़ें- सिद्धार्थनगर में आम बीनने निकले बच्‍चे पर कुत्तों ने किया हमला, जान बचाने के लिए चिल्‍लाता रहा मासूम लेकिन...

गगहा के अरविंद के पास चार दिन पहले उनके पास अनजान नंबर से फोन आया। वह खुद को पुलिस कार्यालय का कर्मचारी बताया।

बोला, साहब आपकी शिकायत पर गंभीर है, आरोपित को गिरफ्तार करने के लिए टीम गठित कर दी है। जल्द ही टीम उसे पकड़ने के लिए जाएगी, बुलडोजर भी साथ जाएगा। जरूरत पड़ने पर उसके घर पर चलाया जाएगा। इसमें 30 हजार रुपये खर्च आएंगे। इसके बाद उसने रुपये भेजने के लिए खाता नंबर बताया।

इसके बाद अरविंद झांसे में आकर रुपये देने जा रहा था लेकिन किसी के कहने पर वह पूछताछ करने थाने पर पहुंच गया तो पता चला वह फर्जी फोन है।

इसे भी पढ़ें-आगरा में तेज हवा के साथ हो सकती है बारिश, वाराणसी में बादल पहुंचा रहे राहत

कोतवाली के जगन्नाथपुर निवासी घनश्याम ने बताया कि उनका रुपये के लेन देने संबंधित मामला चल रहा है। इसे लेकर वह पुलिस कार्यालय पहुंचकर अधिकारियों से शिकायत भी दर्ज कराएं है। उनके पास भी अनजान नंबर से फोन आया और उसने कार्यालय का कर्मचारी बताकर एसओजी टीम गठित करने की बात करते हुए 25 हजार रुपये मांगे। बातचीत के दौरान आशंका होने पर उन्होंने पुलिस से शिकायत की है।

एसपी क्राइम सुधीर जायसवाल ने कहा कि इंटरनेट मीडिया के माध्यम से शिकायत करने वालों का फोन नंबर जालसाज पा जा रहे हैं। इसके अलावा जनसेवा केंद्र व आनलाइन सर्वे से भी लोगों का नंबर उनके तक पहुंच जा रहा है। इसके बाद वह फोन कर नए-नए तरीके से ठगी की बात कर रहे हैं। अभी तक बिजली के बिल, बाहर पढ़ने गये लोगों, कस्टमर केयर, बीमा एजेंसी कर्मचारी, रिश्तेदार बनकर जालसाजी का मामला सामने आ चुका है। अब जालसाजों ने नया तरीका निकाला है। लोगों को इससे सर्तक रहने की जरुरत है।